श्री कुबेर जी आरती - जय कुबेर स्वामी (Shri Kuber Aarti, Jai Kuber Swami)

जय कुबेर स्वामी,

प्रभु जय कुबेर स्वामी,

हे समरथ परिपूरन ।

हे समरथ परिपूरन ।

हे अन्तर्यामी ॥

ॐ जय कुबेर स्वामी

प्रभु जय कुबेर स्वामी..



जय कुबेर स्वामी,

प्रभु जय कुबेर स्वामी,

हे समरथ परिपूरन । -x2

हे अन्तर्यामी ।

॥ ॐ जय कुबेर स्वामी..॥

प्रभु जय कुबेर स्वामी..



विश्रवा के लाल इदविदा के प्यारे,

माँ इदविदा के प्यारे,

कावेरी के नाथ हो । -x2

शिवजी के दुलारे ।

॥ ॐ जय कुबेर स्वामी..॥

प्रभु जय कुबेर स्वामी..



मनिग्रवी मीनाक्षी देवी,

नलकुबेर के तात,

प्रभु नलकुबेर के तात

देवलोक में जागृत । -x2

आप ही हो साक्षात ।

॥ ॐ जय कुबेर स्वामी..॥

प्रभु जय कुबेर स्वामी..



रेवा नर्मदा तट

शोभा अतिभारी

प्रभु शोभा अतिभारी

करनाली में विराजत । -x2

भोले भंडारी ।

॥ ॐ जय कुबेर स्वामी..॥

प्रभु जय कुबेर स्वामी..



वंध्या पूत्र रतन और

निर्धन धन पाये

सब निर्धन धन पाये

मनवांछित फल देते । -x2

जो मन से ध्याये ।

॥ ॐ जय कुबेर स्वामी..॥

प्रभु जय कुबेर स्वामी..



सकल जगत में तुम ही

सब के सुखदाता

प्रभु सब के सुखदाता

दास जयंत कर वन्दे । -x2

जाये बलिहारी ।

॥ ॐ जय कुबेर स्वामी..॥

प्रभु जय कुबेर स्वामी..



जय कुबेर स्वामी,

प्रभु जय कुबेर स्वामी,

हे समरथ परिपूरन ।

हे समरथ परिपूरन ।

हे अन्तर्यामी ॥

ॐ जय कुबेर स्वामी

प्रभु जय कुबेर स्वामी..

सुबह सुबह ले शिव का नाम: भजन (Subah Subah Le Shiv Ka Naam)

ना मन हूँ ना बुद्धि ना चित अहंकार: भजन (Na Mann Hun Na Buddhi Na Chit Ahankar)

कृष्ण जिनका नाम है: भजन (Krishna Jinka Naam Hai Gokul Jinka Dham Hai Bhajan)

श्री चित्रगुप्त जी की आरती - श्री विरंचि कुलभूषण (Shri Chitragupt Aarti - Shri Viranchi Kulbhusan)

यहाँ वहाँ जहाँ तहाँ - माँ संतोषी भजन (Yahan Wahan Jahan Tahan)

भजन: बेटा जो बुलाए माँ को आना चाहिए (Beta Jo Bulaye Maa Ko Aana Chahiye)

तू प्यार का सागर है (Tu Pyar Ka Sagar Hai)

सफला एकादशी व्रत कथा (Saphala Ekadashi Vrat Katha)

भोग भजन: जीमो जीमो साँवरिया थे (Jeemo Jeemo Sanwariya Thye)

श्री शङ्कराचार्य कृतं - अच्युतस्याष्टकम् (Achyutashtakam Acyutam Keshavam Ramanarayanam)

हम तो दीवाने मुरलिया के, अजा अजा रे लाल यशोदा के (Hum Too Diwane Muraliya Ke Aaja Aaje Re Lal Yashoda Ke)

विनती: दीनानाथ मेरी बात, छानी कोणी तेरे से (Dinanath Meri Baat Chani Koni Tere Se)