कभी राम बनके, कभी श्याम बनके भजन (Bhajan: Kabhi Ram Banake Kabhi Shyam Banake)

कभी राम बनके कभी श्याम बनके,

चले आना प्रभुजी चले आना॥



तुम राम रूप में आना, तुम राम रूप में आना

सीता साथ लेके, धनुष हाथ लेके,

चले आना प्रभुजी चले आना॥



तुम श्याम रूप में आना, तुम श्याम रूप में आना,

राधा साथ लेके, मुरली हाथ लेके,

चले आना प्रभुजी चले आना॥



तुम शिव के रूप में आना, तुम शिव के रूप में आना..

गौरा साथ लेके, डमरू हाथ लेके,

चले आना प्रभुजी चले आना॥



तुम विष्णु रूप में आना, तुम विष्णु रूप में आना,

लक्ष्मी साथ लेके, चक्र हाथ लेके,

चले आना प्रभुजी चले आना॥



तुम गणपति रूप में आना, तुम गणपति रूप में आना

रीधी साथ लेके, सीधी साथ लेके,

चले आना प्रभुजी चले आना॥



कभी राम बनके कभी श्याम बनके,

चले आना प्रभुजी चले आना॥

छठ पूजा: कबहुँ ना छूटी छठि मइया... (Kabahun Na Chhooti Chhath)

राम नाम सुखदाई, भजन करो भाई! (Ram Naam Sukhdai Bhajan Karo Bhai Yeh Jeevan Do Din Ka)

आजा माँ तेनु अखियां उडीकदीयां: भजन (Aja Maa Tenu Ankhiyan Udeekdiyan)

श्री नागेश्वर ज्योतिर्लिंग उत्पत्ति पौराणिक कथा (Shri Nageshwar Jyotirlinga Utpatti Pauranik Katha)

भजन: हर बात को भूलो मगर.. (Har Baat Ko Tum Bhulo Bhale Maa Bap Ko Mat Bhulna)

करती हूँ तुम्हारा व्रत मैं - माँ संतोषी भजन (Karti Hu Tumhara Vrat Main)

करवा चौथ व्रत कथा: साहूकार के सात लड़के, एक लड़की की कहानी (Karwa Chauth Vrat Katha)

शीश गंग अर्धंग पार्वती: भजन (Sheesh Gang Ardhang Parvati)

हम राम जी के, राम जी हमारे हैं। (Hum Ram Ji Ke Ram Ji Hamare Hain)

सूरज की गर्मी से जलते हुए तन को: भजन (Suraj Ki Garmi Se Jalte Hue Tan Ko)

भोजन मन्त्र: ॐ सह नाववतु। (Bhojan Mantra Om Sah Naavavatu)

श्री झूलेलाल आरती- ॐ जय दूलह देवा! (Shri Jhulelal Om Jai Doolah Deva)