श्री सूर्य देव - जय जय रविदेव। (Shri Surya Dev - Jai Jai Ravidev)

जय जय जय रविदेव,

जय जय जय रविदेव ।

रजनीपति मदहारी,

शतलद जीवन दाता ॥



पटपद मन मदुकारी,

हे दिनमण दाता ।

जग के हे रविदेव,

जय जय जय स्वदेव ॥



नभ मंडल के वाणी,

ज्योति प्रकाशक देवा ।

निजजन हित सुखराशी,

तेरी हम सब सेवा ॥



करते हैं रविदेव,

जय जय जय रविदेव ।

कनक बदन मन मोहित,

रुचिर प्रभा प्यारी ॥



नित मंडल से मंडित,

अजर अमर छविधारी ।

हे सुरवर रविदेव,

जय जय जय रविदेव ॥



जय जय जय रविदेव,

जय जय जय रविदेव ।

रजनीपति मदहारी,

शतलद जीवन दाता ॥

भजन: चलो मम्मी-पापा चलो इक बार ले चलो! (Chalo Mummy Papa Ik Baar Le Chalo)

महादेव शंकर हैं जग से निराले: भजन (Mahadev Shankar Hain Jag Se Nirale)

श्री विष्णु मत्स्य अवतार पौराणिक कथा (Shri Vishnu Matsyavatar Pauranik Katha)

मंत्र: महामृत्युंजय मंत्र, संजीवनी मंत्र, त्रयंबकम मंत्र (Mahamrityunjay Mantra)

श्री राम नाम तारक (Shri Rama Nama Tarakam)

बताओ कहाँ मिलेगा श्याम: भजन (Batao Kahan Milega Shyam)

आए हैं प्रभु श्री राम, भरत फूले ना समाते: भजन (Aaye Hain Prabhu Shri Ram Bharat Fule Na Samate)

जन्माष्टमी भजन: यशोमती मैया से बोले नंदलाला (Yashomati Maiyya Se Bole Nandlala)

कार्तिक मास माहात्म्य कथा: अध्याय 3 (Kartik Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 3)

यही आशा लेकर आती हूँ: भजन (Bhajan: Yahi Aasha Lekar Aati Hu)

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य कथा: अध्याय 28 (Purushottam Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 28)

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य कथा: अध्याय 7 (Purushottam Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 7)