त्रिमूर्तिधाम: श्री हनुमान जी की आरती (Hanuman Ji Ki Aarti Trimurtidham)

जय हनुमत बाबा,

जय जय हनुमत बाबा ।

रामदूत बलवन्ता,

रामदूत बलवन्ता,

सब जन मन भावा ।

जय जय हनुमत बाबा ।



अंजनी गर्भ सम्भूता,

पवन वेगधारी,

बाबा पवन वेगधारी ।

लंकिनी गर्व निहन्ता,

लंकिनी गर्व निहन्ता,

अनुपम बलधारी ।

जय जय हनुमत बाबा ।



बालापन में बाबा अचरज बहु कीन्हों,

बाबा अचरज बहु कीन्हों ।

रवि को मुख में धारयो,

रवि को मुख में धारयो,

राहू त्रास दीन्हों ।

जय जय हनुमत बाबा ।



सीता की सुधि लाये,

लंका दहन कियो,

बाबा लंका दहन कियो ।

बाग अशोक उजारि,

बाग अशोक उजारि,

अक्षय मार दियो ।

जय जय हनुमत बाबा ।



द्रोण सो गिरि उपारयो,

लखन को प्राण दियो,

बाबा लखन को प्राण दियो ।

अहिरावण संहारा,

अहिरावण संहारा,

सब जन तार दियो ।

जय जय हनुमत बाबा ।



संकट हरण कृपामय,

दयामय सुखकारी,

बाबा दयामय सुखकारी ।

सर्व सुखन के दाता,

सर्व सुखन के दाता,

जय जय केहरि हरि ।

जय जय हनुमत बाबा ।



सब द्वारों से लौटा तेरी शरण परयो,

बाबा तेरी शरण परयो ।

संकट मेरा मिटाओ,

संकट मेरा मिटाओ,

विघ्न सकल हरयो ।

जय जय हनुमत बाबा ।



भक्ति भाव से बाबा, मन मेरा सिक्त रहे,

बाबा मन मेरा सिक्त रहे ।

एक हो शरण तिहारी,

एक हो शरण तिहारी,

विषयन में न चित रहे ।

जय जय हनुमत बाबा ।



जय हनुमत बाबा,

जय जय हनुमत बाबा ।

रामदूत बलवन्ता,

रामदूत बलवन्ता,

सब जन मन भावा ।

जय जय हनुमत बाबा ।




दोहा

पवन तनय संकट हरन,

मंगल मूरति रूप ।

राम लखन सीता सहित,

ह्रदय बसेहुँ सुर भूप ॥



* यह आरती प्रातः काल नहीं की जानी चाहिए।

* यह आरती श्री त्रिमूर्तिधाम, बालाजी हनुमान मंदिर कालका, जिला पंचकूला, हरियाणा मे गाई जाने वाली आरती है।

गोबिंद चले चरावन गैया: भजन (Gobind Chale Charavan Gaiya)

सजा दो घर को गुलशन सा: भजन (Sajado Ghar Ko Gulshan Sa)

अभयदान दीजै दयालु प्रभु (Abhaydan Deejai Dayalu Prabhu Shiv Aarti)

इक दिन वो भोले भंडारी बन करके ब्रज की नारी: भजन (Ik Din Vo Bhole Bhandari Banke Braj Ki Nari)

श्री गौ अष्टोत्तर नामावलि - गौ माता के 108 नाम (Gau Mata Ke 108 Naam)

भजन: जय हो शिव भोला भंडारी! (Jai Ho Shiv Bhola Bhandari Lela Aprampar Tumhari Bhajan)

छठ पूजा: पहिले पहिल, छठी मईया व्रत तोहार। (Chhath Puja: Pahile Pahil Chhathi Maiya)

सुबह सुबह ले शिव का नाम: भजन (Subah Subah Le Shiv Ka Naam)

आजा माँ तेनु अखियां उडीकदीयां: भजन (Aja Maa Tenu Ankhiyan Udeekdiyan)

जबसे बरसाने में आई, मैं बड़ी मस्ती में हूँ! (Jab Se Barsane Me Aayi Main Badi Masti Me Hun)

गजानंद महाराज पधारो कीर्तन की तैयारी है! (Gajanand Maharaj Padharo Kirtan Ki Taiyari Hai)

माँ बगलामुखी अष्टोत्तर-शतनाम-स्तोत्रम् (Maa Baglamukhi Ashtottara Shatnam Stotram)