जिस दिल में आपकी याद रहे: भजन (Jis Dil Main Aapki Yaad Rahe)

जिस दिल में आपकी याद रहे

प्रभु दिल मेरा वो दिल करदो

राही न सही मंजिल की तरफ

राही की तरफ मंजिल करदो




मन में भी अनेक विकारों ने


डटकर के डेरा डाल लिया


इस छल मन से यदि प्रेम है तो


जन मन का मन निर्मल करदो


जिस दिल में आपकी याद रहे


प्रभु दिल मेरा वो दिल करदो




पाकर मैं आपकी भक्ति प्रभु


वह थे जो झूमते मस्ती में


करुणा करके राजेश को भी प्रभु


उन मस्तों में शामिल कर दो


जिस दिल में आपकी याद रहे


प्रभु दिल मेरा वो दिल करदो




रंगलो अपने रंग में मुझको


जिससे न कुसंग का रंग चढ़े


दुनिया के प्रेम में पागल हूँ


अपना करके पागल करदो


जिस दिल में आपकी याद रहे


प्रभु दिल मेरा वो दिल करदो

शिव स्तुति: ॐ वन्दे देव उमापतिं सुरगुरुं (Shiv Stuti: Om Vande Dev Umapatin Surguru)

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य कथा: अध्याय 9 (Purushottam Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 9)

पवमान मंत्र: ॐ असतो मा सद्गमय। (Pavman Mantra: Om Asato Maa Sadgamaya)

सिद्ध कुञ्जिका स्तोत्रम् (Siddha Kunjika Stotram)

बनवारी रे! जीने का सहारा तेरा नाम रे: भजन (Banwari Re Jeene Ka Sahara Tera Naam Re)

रंगीलो मेरो बनवारी: होली भजन (Rangilo Mero Banwari)

मन की तरंग मार लो... (Man Ki Tarang Mar Lo Bas Ho Gaya Bhajan)

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य कथा: अध्याय 16 (Purushottam Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 16)

जन्म बधाई भजन: घर घर बधाई बाजे रे देखो (Ghar Ghar Badhai Baje Re Dekho)

श्री विष्णु स्तुति - शान्ताकारं भुजंगशयनं (Shri Vishnu Stuti - Shantakaram Bhujagashayanam)

मंत्र: शिव तांडव स्तोत्रम् (Shiv Tandav Stotram)

संकट के साथी को हनुमान कहते हैं: भजन (Sankat Ke Sathi Ko Hanuman Kahate Hain)