भजन: हरि जी! मेरी लागी लगन मत तोडना.. (Hari Ji Meri Lagi Lagan Mat Todna)

हरि जी! मेरी लागी लगन मत तोडना,

लाला* जी! मेरी लागी लगन मत तोडना,

गोपाला! मेरी लागी लगन मत तोडना,

लागी लगन मत तोडना,

प्यारे लागी लगन मत तोडना ॥



खेती बोआई मैंने तेरे नाम की, ..[x2]

मेरे भरोसे मत छोडना,

॥ हरि जी मेरी लागी लगन...॥



जल है गहरा नाव पुरानी, ..[x2]

बीच भवर मत छोडना,

॥ हरि जी मेरी लागी लगन...॥



तू ही मेरा सेठ है तू ही साहूकार है, ..[x2]

ब्याज पे ब्याज मत जोड़ना,

॥ हरि जी मेरी लागी लगन...॥



हरि जी! मेरी लागी लगन मत तोडना,

लागी लगन मत तोडना,

प्यारे लागी लगन मत तोडना ॥




* लाला:
इस भजन के अन्य धुन में हरि की जगह कहीं-कहीं लाला शब्द का प्रयोग किया गया है। https://www.youtube.com/watch?v=HtIQzmjUlqY

प्रेम मुदित मन से कहो, राम राम राम: भजन (Prem Mudit Mann Se Kaho, Ram Ram Ram)

प्रभु हम पे कृपा करना, प्रभु हम पे दया करना: भजन (Prabhu Humpe Daya Karna)

उनकी रेहमत का झूमर सजा है: भजन (Unki Rehmat Ka Jhoomar Saja Hai)

श्री शङ्कराचार्य कृतं - अर्धनारीनटेश्वर स्तोत्र॥ (Ardhnarishwar Stotram)

तुम आशा विश्वास हमारे, रामा: भजन (Tum Asha Vishwas Hamare Bhajan)

शिव आरती - ॐ जय शिव ओंकारा (Shiv Aarti - Om Jai Shiv Omkara)

हो गए भव से पार लेकर नाम तेरा: भजन (Ho Gaye Bhav Se Par Lekar Naam Tera)

भजन: बांके बिहारी कृष्ण मुरारी (Banke Bihari Krishan Murari)

जानकी स्तुति - भइ प्रगट किशोरी (Janaki Stuti - Bhai Pragat Kishori)

शिवाष्ट्कम्: जय शिवशंकर, जय गंगाधर.. पार्वती पति, हर हर शम्भो (Shivashtakam: Jai ShivShankar Jai Gangadhar, Parvati Pati Har Har Shambhu)

भजन: राधे कृष्ण की ज्योति अलोकिक (Radhe Krishna Ki Jyoti Alokik)

आरती: ॐ जय महावीर प्रभु (Om Jai Mahavir Prabhu)