मेरे लाडले गणेश प्यारे प्यारे: भजन (Mere Ladle Ganesh Pyare Pyare Bhajan)

मेरे लाडले गणेश प्यारे प्यारे

भोले बाबा जी की आँखों के तारे

प्रभु सभा बीच में आ जाना आ जाना

॥ मेरे लाडले गणेश प्यारे प्यारे ॥



तेरी काया कंचन कंचन,

किरणों का है जिसमे बसेरा।

तेरी सूंड सुंडाली मूरत,

तेरी आँखों मे खुशियों का डेरा ।

तेरी महिमा अपरम्पार,

तुझको पूजे ये संसार ।

प्रभु अमृत रस बरसा जाना, आ जाना ।

॥ मेरे लाडले गणेश प्यारे प्यारे ॥



प्रभु भजन तुम्हारे गाएं,

सबसे पहले हम तुमको मनाएं ।

धुप दीपो की ज्योति जलाएं,

मन मंदिर मे झांकी सजाएं ।

मेरे भोले भगवान,

दे दो भक्ति का दान ।

प्रभु नैया पार लगा जाना, आ जाना ।

॥ मेरे लाडले गणेश प्यारे प्यारे ॥



मेरे विधन विनाशक देवा,

सबसे पहले करें तेरी सेवा ।

सारे जग मे आनंद छाया,

बोलो जय जय गजानंद देवा ।

बाजे सुर और ताल,

तेरा गुण गाये संसार ।

घुंघरू की खनक खनक जाना, आ जाना ।

॥ मेरे लाडले गणेश प्यारे प्यारे ॥

भजन: काशी वाले, देवघर वाले, जय शम्भू। (Bhajan: Kashi Wale Devghar Wale Jai Shambu)

भजन: राम को देख कर के जनक नंदिनी, और सखी संवाद (Ram Ko Dekh Ke Janak Nandini Aur Sakhi Samvad)

ठुमक चलत रामचंद्र, बाजत पैंजनियां: भजन (Thumak Chalat Ramchandra)

श्री नागेश्वर ज्योतिर्लिंग उत्पत्ति पौराणिक कथा (Shri Nageshwar Jyotirlinga Utpatti Pauranik Katha)

चलो शिव शंकर के मंदिर में भक्तो: भजन (Chalo Shiv Shankar Ke Mandir Me Bhakto)

गोपी गीत - जयति तेऽधिकं जन्मना (Gopi Geet - Jayati Te Dhikam Janmana)

वट सावित्री व्रत कथा (Vat Savitri Vrat Katha)

कार्तिक मास माहात्म्य कथा: अध्याय 12 (Kartik Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 12)

मन मेरा मंदिर, शिव मेरी पूजा: भजन (Man Mera Mandir Shiv Meri Pooja)

भजन: जय हो शिव भोला भंडारी! (Jai Ho Shiv Bhola Bhandari Lela Aprampar Tumhari Bhajan)

प्रेरक कथा: श्री कृष्ण मोर से, तेरा पंख सदैव मेरे शीश पर होगा! (Prerak Katha Shri Krishn Mor Se Tera Aankh Sadaiv Mere Shish)

सजा दो घर को गुलशन सा: भजन (Sajado Ghar Ko Gulshan Sa)