टूटी झोपड़िया मेरी माँ: भजन (Tuti Jhupdiya Meri Maa Garib Ghar Aajana)

टूटी झोपड़िया मेरी माँ,

गरीब घर आ जाना ।



बड़े बड़े लोग मैया जागरण कराये

मैं कीर्तन करवाऊ मेरी माँ,

गरीब घर आ जाना ।




टूटी झोपड़िया मेरी माँ,


गरीब घर आ जाना ।



बड़े बड़े लोग मैया चोला चढ़ाये

मैं चुनरी चड़ाऊ मेरी माँ,

गरीब घर आ जाना ।




टूटी झोपड़िया मेरी माँ,


गरीब घर आ जाना ।



बड़े बड़े लोग मैया हार पहनाये

मैं फुल्लो की माला पहनाऊ मेरी माँ,

गरीब घर आ जाना ।




टूटी झोपड़िया मेरी माँ,


गरीब घर आ जाना ।



बड़े बड़े लोग मैया पायल पहनाये

मैं बिछुए पहनाऊ मेरी माँ,

गरीब घर आ जाना ।




टूटी झोपड़िया मेरी माँ,


गरीब घर आ जाना ।



बड़े बड़े लोग मैया मेवा खिलाये

मैं हलवा खिलाऊ मेरी माँ,

गरीब घर आ जाना ।




टूटी झोपड़िया मेरी माँ,


गरीब घर आ जाना ।



बड़े बड़े लोग मैया लंगर लगावे

मै कन्या जिमाऊं मेरी माँ,

गरीब घर आ जाना ।




टूटी झोपड़िया मेरी माँ,


गरीब घर आ जाना ।



बड़े बड़े लोग मैया गाड़िया में आएँ

मै पैदल आऊँ मेरी माँ,

गरीब घर आ जाना ।




टूटी झोपड़िया मेरी माँ,


गरीब घर आ जाना ।



*
छोटी सी झोपड़िया मेरी माँ,


गरीब घर आ जाणा ।

** कुछ गायको ने इस भजन को इस अंतरा के साथ भी गया है।

मेरे राम मेरे घर आएंगे, आएंगे प्रभु आएंगे: भजन (Mere Ram Mere Ghar Ayenge Ayenge Prabhu Ayenge)

श्री गणेश मंत्र - गजाननं भूत गणादि सेवितं! (Shri Ganesh Mantr: Gajananam Bhoota Ganadhi Sevitam)

आज तो गुरुवार है, सदगुरुजी का वार है (Aaj To Guruwar hai, Sadguru Ka War Hai)

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य कथा: अध्याय 21 (Purushottam Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 21)

भेजा है बुलावा, तूने शेरा वालिए: भजन (Bheja Hai Bulava Tune Shera Waliye)

श्री विष्णु स्तुति - शान्ताकारं भुजंगशयनं (Shri Vishnu Stuti - Shantakaram Bhujagashayanam)

मेरो छोटो सो लड्डू गोपाल सखी री बड़ो प्यारो है (Mero Choto So Laddu Gopal Sakhi Ri Bado Pyaro Hai)

श्री लक्ष्मी के 108 नाम - श्रीलक्ष्मीष्टोत्तरशतनामावलिः (108 Mata Lakshmi Names)

रंगीलो मेरो बनवारी: होली भजन (Rangilo Mero Banwari)

मैं तो अपने मोहन की प्यारी: भजन (Me Too Apne Mohan Ki Pyari, Sajan Mero Girdhari)

होली भजन: फाग खेलन बरसाने आये हैं, नटवर नंद किशोर (Holi Bhajan: Faag Khelan Barasane Aaye Hain Natwar Nand Kishore)

इस योग्य हम कहाँ हैं, गुरुवर तुम्हें रिझायें: भजन (Is Yogya Ham Kahan Hain, Guruwar Tumhen Rijhayen)