मारने वाला है भगवान, बचाने वाला है भगवान: भजन (Marne Wala Hai Bhagwan Bachane Wala Hai Bhagwan)

श्रद्धा रखो जगत के लोगो,

अपने दीनानाथ में ।

लाभ हानि जीवन और मृत्यु,

सब कुछ उस के हाथ में ॥



मारने वाला है भगवान,

बचाने वाला है भगवान ।

बाल ना बांका होता उसका,

जिसका रक्षक दयानिधान ॥



त्याग दो रे भाई फल की आशा,

स्वार्थ बिना प्रीत जोड़ो ।

कल क्या होगा इस की चिंता,

जगत पिता पर छोड़ो ।

क्या होनी है क्या अनहोनी,

सब का उसको ज्ञान ॥



मारने वाला है भगवान,

बचाने वाला है भगवान ।

बाल ना बांका होता उसका,

जिसका रक्षक दयानिधान ॥



जल थल अगन आकाश पवन पर,

केवल उसकी सत्ता।

प्रभु इच्छा बिना यहाँ पर,

हिल ना सके एक पत्ता ।

उसी का सौदा यहाँ पे होता,

उस की शक्ति महान ॥



मारने वाला है भगवान,

बचाने वाला है भगवान ।

बाल ना बांका होता उसका,

जिसका रक्षक दयानिधान ॥

आरती श्री भगवद्‍ गीता (Aarti Shri Bhagwat Geeta)

तेरे दरबार मे मैया खुशी मिलती है: भजन (Tere Darbar Mein Maiya Khushi Milti Hai)

आपने अपना बनाया मेहरबानी आपकी: भजन (Aapne Apna Banaya Meharbani Aapki)

जरी की पगड़ी बांधे, सुंदर आँखों वाला: भजन (Jari Ki Pagri Bandhe Sundar Ankhon Wala)

श्री सोमनाथ ज्योतिर्लिंग प्रादुर्भाव पौराणिक कथा! (Shri Somnath Jyotirlinga Utpatti Pauranik Katha)

माँ रेवा: थारो पानी निर्मल (Maa Rewa: Tharo Pani Nirmal)

मंगल को जन्मे, मंगल ही करते: भजन (Mangal Ko Janme Mangal Hi Karte)

मै हूँ बेटी तू है माता: भजन (Main Hoon Beti Tu Hai Mata)

मेरी अखियों के सामने ही रहना, माँ जगदम्बे: भजन (Meri Akhion Ke Samne Hi Rehna Maa Jagdambe)

भजन: खाटू का राजा मेहर करो (Khatu Ka Raja Mehar Karo)

जन्माष्टमी भजन: यशोमती मैया से बोले नंदलाला (Yashomati Maiyya Se Bole Nandlala)

तेरे चरण कमल में श्याम: भजन (Tere Charan Kamal Mein Shyam)