मैं तो ओढली चुनरियाँ थारे नाम री: भजन (Main Too Ohdli Chunariyan Thare Naam Ri)

मैं तो ओढली चुनरियाँ थारे नाम री,

थारे नाम री थारे नाम री,

मैं तो ओढली चुनरियाँ थारे नाम री,



श्याम नाम की ओढ़ चुनरियाँ नाचू मनड़ो खोल,

जीवन सुधर गयो म्हारो मिले मने सांवरियो अनमोल,

मैं तो ओढली चुनरियाँ थारे नाम री,



भाव भरी अरदास सांवरियो करले ने स्वीकार,

सब अवगुण हर लेना करू श्याम जो उपकार,

मैं तो ओढली चुनरियाँ थारे नाम री,



अब माहने कोई डर को न फ़िक्र साकडे आवे,

श्याम श्याम नित रोज रटु श्याम नाम मन भावे,

मैं तो ओढली चुनरियाँ थारे नाम री,



अमृत ओहदी श्याम चुनरियाँ श्याम को प्रेमी बन गयो,

केमिता गुणगावे रे बाबा भगति रो रंग चढ़ गयो,

मैं तो ओढली चुनरियाँ थारे नाम री,

मेरे भोले बाबा को अनाड़ी मत समझो: शिव भजन (Mere Bhole Baba Ko Anadi Mat Samjho)

भजन: चंदन है इस देश की माटी (Chandan Hai Is Desh Ki Mati)

भजन: थारी जय जो पवन कुमार! (Bhajan: Thari Jai Ho Pavan Kumar Balihari Jaun Balaji)

श्री विष्णु स्तुति - शान्ताकारं भुजंगशयनं (Shri Vishnu Stuti - Shantakaram Bhujagashayanam)

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य कथा: अध्याय 28 (Purushottam Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 28)

ऐसा प्यार बहा दे मैया: भजन (Aisa Pyar Baha De Maiya)

भगवान मेरी नैया, उस पार लगा देना: भजन (Bhagwan Meri Naiya Us Par Gaga Dena)

भजन: ओ गंगा तुम, गंगा बहती हो क्यूँ? (Bhajan: Ganga Behti Ho Kiyon)

देवोत्थान / प्रबोधिनी एकादशी व्रत कथा 2 (Devutthana Ekadashi Vrat Katha 2)

शंकर शिव शम्भु साधु सन्तन सुखकारी: भजन (Shankar Shiv Shambhu Sadhu Santan Sukhkari)

अथ श्री बृहस्पतिवार व्रत कथा | बृहस्पतिदेव की कथा (Shri Brihaspatidev Ji Vrat Katha)

आए हैं प्रभु श्री राम, भरत फूले ना समाते: भजन (Aaye Hain Prabhu Shri Ram Bharat Fule Na Samate)