भजन: हम सब मिलके आये, दाता तेरे दरबार (Hum Sab Milke Aaye Data Tere Darbar)

हम सब मिलके आये,

दाता तेरे दरबार

भर दे झोली सबकी,

तेरे पूर्ण भंडार



हम सब मिलके आये,

दाता तेरे दरबार

भर दे झोली सबकी,

तेरे पूर्ण भंडार



लेकर दिल मे फरियाद,

करते हम तुमको याद



जब हो मुश्किल की घड़िया,

माँगे तुम से इमदाद



सबसे बढ़के ऊँचा,

जग मे तेरा दरबार

भर दे झोली सबकी,

तेरे पूर्ण भंडार



हम सब मिलके आये,

दाता तेरे दरबार

भर दे झोली सबकी,

तेरे पूर्ण भंडार



चाहे दिन हो विपरीत,

होवे तुमसे ही प्रीत

सच्ची श्रद्धा से गावे,

तेरी भक्ति के गीत



होवे सबका प्रभुजी,

तेरे चरणो मे प्यार

भर दे झोली सबकी,

तेरे पूर्ण भंडार



हम सब मिलके आये,

दाता तेरे दरबार

भर दे झोली सबकी,

तेरे पूर्ण भंडार



होवे जब संध्याकाल,

होके निर्मल तत्काल

अपना मस्तक झुकाके,

करके तेरा ख़याल



तेरे दर पे आकर,

बैठे सारा परिवार

भर दे झोली सबकी,

तेरे पूर्ण भंडार



हम सब मिलके आये,

दाता तेरे दरबार

भर दे झोली सबकी,

तेरे पूर्ण भंडार



हम सब मिलके आये,

दाता तेरे दरबार

भरदे झोली सबकी,

तेरे पूर्ण भंडार



हम सब मिलके आये,

दाता तेरे दरबार

भर दे झोली सबकी,

तेरे पूर्ण भंडार

धर्मराज आरती - ॐ जय धर्म धुरन्धर (Dharmraj Ki Aarti - Om Jai Dharm Dhurandar)

राम को मांग ले मेरे प्यारे: भजन (Ram Ko Maang Le Mere Pyare)

परमा एकादशी व्रत कथा (Parama Ekadashi Vrat Katha)

भजन: ऐसी सुबह ना आए, आए ना ऐसी शाम (Aisi Suwah Na Aye Aye Na Aisi Sham)

राम तुम बड़े दयालु हो: भजन (Ram Tum Bade Dayalu Ho)

ऋण विमोचन नृसिंह स्तोत्रम् (Rina Vimochana Nrisimha Stotram)

ॐ शंकर शिव भोले उमापति महादेव: भजन (Shankar Shiv Bhole Umapati Mahadev)

भगवान राम के राजतिलक में निमंत्रण से छूटे भगवान चित्रगुप्त (Ram Ke Rajtilak Me Nimantran Se Chhute Bhagwan Chitragupt)

श्री राम रामेति रामेति रमे रामे मनोरमे (Shri Ram Raameti Raameti, Rame Raame Manorame)

जो विधि कर्म में लिखे विधाता: भजन (Jo Vidhi Karam Me Likha Vidhata)

नामावलि: श्री गणेश अष्टोत्तर नामावलि (108 Shri Ganesh Ji)

हमारे हैं श्री गुरुदेव, हमें किस बात की चिंता (Hamare Hain Shri Gurudev Humen Kis Bat Ki Chinta)