भजन: बोलो राम! मन में राम बसा ले। (Bolo Ram Man Me Ram Basa Le Bhajan)

बोलो राम, जय जय राम, बोलो राम

जन्म सफल होगा बन्दे,

मन में राम बसा ले,

भोले राम, आजा राम, भोले राम,



हे राम नाम के मोती को,

सांसो की माला बना ले,

मन में राम बसा ले,



राम पतित पवन करुनाकर,

और सदा सुख दाता,

भोले राम, आजा राम, भोले राम,



सरस सुहावन अति मनभावन,

राम से प्रीत लगा ले,

मन में राम बसा ले,

भोले राम, आजा राम, भोले राम,



मोह माया है झूटा बन्धन,

त्याग उसे तू प्राणी,

राम नाम की ज्योत जला कर,

अपना भाग जगा ले,

मन में राम बसा ले,



राम भजन में डूब के अपनी,

निर्मल कर ले काया,

राम नाम से प्रीत लगा के,

जीवन पार लगा ले,

मन में राम बसा ले,



बोलो राम, जय जय राम, बोलो राम

जन्म सफल होगा बन्दे,

मन में राम बसा ले,

भोले राम, आजा राम, भोले राम,

माता रानी के भजन (Mata Rani Ke Bhajan)

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य कथा: अध्याय 14 (Purushottam Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 14)

भजन: सांवली सूरत पे मोहन, दिल दीवाना हो गया! (Sanwali Surat Pe Mohan Dil Diwana Ho Gaya)

श्री गंगा स्तोत्रम् - श्री शङ्कराचार्य कृतं (Maa Ganga Stortam)

तेरी सूरत पे जाऊं बलिहार रसिया: भजन (Teri Surat Pe Jaun Balihari Rasiya)

आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की (Kunj Bihari Shri Girdhar Krishna Murari)

चित्रकूट के घाट-घाट पर, शबरी देखे बाट: भजन (Bhajan: Chitrakoot Ke Ghat Ghat Par Shabri Dekhe Baat)

मै हूँ बेटी तू है माता: भजन (Main Hoon Beti Tu Hai Mata)

मैं तो तेरी हो गई श्याम: भजन (Me Too Teri Hogai Shayam, Dunyan Kya Jane)

अहोई अष्टमी और राधाकुण्ड से जुड़ी कथा (Ahoi Ashtami And Radhakund Katha)

मंत्र: माँ गायत्री (Maa Gayatri)

देवोत्थान / प्रबोधिनी एकादशी व्रत कथा (Devutthana Ekadashi Vrat Katha)