जय राधे, जय कृष्ण, जय वृंदावन: भजन (Jaya Radhe Jaya Krishna Jaya Vrindavan)

जय राधे, जय कृष्ण, जय वृंदावन ।

श्री गोविंदा, गोपीनाथ, मदन-मोहन ॥




श्याम-कुंड, राधा-कुंड, गिरि-गोवर्धन ।


कालिंदी जमुना जय, जय महावन ॥


जय राधे, जय कृष्ण, जय वृंदावन ॥



केशी-घाट, बंसीवट, द्वादश-कानन ।

जहां सब लीला कोइलो श्री-नंद-नंदनी ॥


जय राधे, जय कृष्ण, जय वृंदावन ॥




श्री-नंद-यशोदा जय, जय गोप-गण ।


श्रीदामादि जय, जय धेनु-वत्स-गण ॥


जय राधे, जय कृष्ण, जय वृंदावन ॥



जय वृषभानु, जय कीर्तिदा सुंदरी ।

जय पूरणमासी, जय अभिरा नगरी ॥


जय राधे, जय कृष्ण, जय वृंदावन ॥




जय जय गोपिश्वर वृंदावन-माझ ।


जय जय कृष्ण-सखा बटु द्विज-राज ॥


जय राधे, जय कृष्ण, जय वृंदावन ॥



जय राम-घाट, जया रोहिणी-नंदन ।

जय जय वृंदावन, बासी-जत-जन ॥


जय राधे, जय कृष्ण, जय वृंदावन ॥




जय द्विज-पत्नी जय, नाग-कन्या-गण ।


भक्ति जहर पाईलो, गोविंद चरण ॥


जय राधे, जय कृष्ण, जय वृंदावन ॥



श्री-रास-मंगल जय, जय राधा-श्याम ।

जय जय रास-लीला, सर्व-मनोरम ॥


जय राधे, जय कृष्ण, जय वृंदावन ॥




जय जय उज्ज्वल-रस, सर्व-रस-सार ।


पारकिया-भावे जाह, ब्रजते प्रचार ॥


जय राधे, जय कृष्ण, जय वृंदावन ॥



श्री जाह्नवा पाद पद्म कोरिया स्मरण ।

दीन कृष्ण दास कोहे नाम संकीर्तन॥


जय राधे, जय कृष्ण, जय वृंदावन ॥




जय राधे, जय कृष्ण, जय वृंदावन ।

श्री गोविंदा, गोपीनाथ, मदन-मोहन ॥

भजन: भारत के लिए भगवन का एक वरदान है गंगा! (Bharat Ke Liye Bhagwan Ka Ek Vardan Hai Maa Ganga)

भजन: जीवन है तेरे हवाले, मुरलिया वाले.. (Jeevan Hai Tere Hawale Muraliya Wale)

श्रीमन नारायण नारायण हरी हरी.. भजन (Shri Man Narayan Narayan Hari Hari)

भजन: काशी वाले, देवघर वाले, जय शम्भू। (Bhajan: Kashi Wale Devghar Wale Jai Shambu)

आरती माँ लक्ष्मीजी - ॐ जय लक्ष्मी माता (Shri Laxmi Mata - Om Jai Lakshmi Mata)

भजन: मैं नहीं, मेरा नहीं, यह तन.. (Main Nahi Mera Nahi Ye Tan)

हो लाल मेरी पत रखियो बला - दमादम मस्त कलन्दर: भजन (O Lal Meri Pat Rakhiyo Bala Duma Dum Mast Kalandar)

श्री शीतलाष्टक स्तोत्र (Shri Sheetla Ashtakam)

अनमोल तेरा जीवन, यूँ ही गँवा रहा है: भजन (Anmol Tera Jeevan Yuhi Ganwa Raha Hai)

प्रेरक कथा: श‌िव के साथ ये 4 चीजें जरुर दिखेंगी! (Shiv Ke Sath Ye 4 Cheejen Jarur Dikhengi)

चित्रकूट के घाट-घाट पर, शबरी देखे बाट: भजन (Bhajan: Chitrakoot Ke Ghat Ghat Par Shabri Dekhe Baat)

रामयुग: जय हनुमान - हर हर है हनुवीर का (Jai Hanuman From Ramyug)