राधिके ले चल परली पार - भजन (Radhike Le Chal Parli Paar)

गलियां चारों बंद हुई,

मिलूं कैसे हरी से जाये ।

ऊंची नीची राह रपटीली,

पाओ नहीं ठहराए ।

सोच सोच पग धरु जतन से,

बार बार डिग जाये ।

अब राधे के सिवा कोई न,

परली पार लागए ।

परली पार लागए,

परली पार लागए,

परली पार लागए ।



राधिके ले चल परली* पार,

राधिके ले चल परली पार

जहाँ विराजे नटवर नागर,

जहाँ विराजे नटवर नागर

नटखट नन्द कुमार...



किशोरी ले चल परली पार,

राधिके ले चल परली पार

किशोरी ले चल परली पार,

श्यामा चल परली पार



गुण अवगुण सब उनको अर्पण,

पाप पुन्य सब उनको समर्पण

मैं उनके चरनन की दासी,

मैं उनके चरनन की दासी

वो है प्राण आधार...



किशोरी ले चल परली पार,

राधिके ले चल परली पार

किशोरी ले चल परली पार,

श्यामा चल परली पार



उनसे आस लगा बैठी हूँ,

लज्जा शील गवा बैठी हूँ

सवरिया मैं तेरी रागनी,

सवरिया मैं तेरी रागनी

तू मेरा मल्हार...



किशोरी ले चल परली पार,

राधिके ले चल परली पार

किशोरी ले चल परली पार,

श्यामा चल परली पार



तेरे सिवा कुछ चाह नहीं है,

कोई सूझती राह नहीं है

मेरे प्रीतम मेरे मांझी,

मेरे प्रीतम मेरे मांझी

सुनए करुण पुकार...



किशोरी ले चल परली पार,

राधिके ले चल परली पार

किशोरी ले चल परली पार,

श्यामा चल परली पार



आनदं धन यहाँ बरस रहा है,

पत्ता पत्ता हरस रहा है

बहुत हुई अब हार गई मैं,

बहुत हुई अब हार गई मैं

पड़ी पड़ी मझधार...



किशोरी ले चल परली पार,

राधिके ले चल परली पार

किशोरी ले चल परली पार,

श्यामा चल परली पार



राधिके ले चल परली पार,

राधिके ले चल परली पार

जहाँ विराजे नटवर नागर,

जहाँ विराजे नटवर नागर

नटखट नन्द कुमार...



किशोरी ले चल परली पार,

राधिके ले चल परली पार

किशोरी ले चल परली पार,

श्यामा चल परली पार



* परली: दूसरी छोर (other side of river)

कथा: हनुमान गाथा (Katha Hanuman Gatha)

अपरा / अचला एकादशी व्रत कथा (Apara / Achala Ekadashi Vrat Katha)

आरती युगलकिशोर की कीजै! (Aarti Shri Yugal Kishoreki Keejai)

भजन: सांवरे को दिल में बसा के तो देखो! (Bhajan: Sanware Ko Dil Me Basa Kar To Dekho)

प्रबल प्रेम के पाले पड़ के: भजन (Prem Ke Pale Prabhu Ko Niyam Badalte Dekha)

मां नर्मदाजी आरती (Aarti Shri Narmada Maiya)

आरती: श्री महावीर भगवान | जय सन्मति देवा (Shri Mahaveer Bhagwan 3 Jai Sanmati Deva)

माँ शारदे कहाँ तू, वीणा बजा रही हैं: भजन (Maa Sharde Kaha Tu Veena Baja Rahi Hain)

भजन: ओ गंगा तुम, गंगा बहती हो क्यूँ? (Bhajan: Ganga Behti Ho Kiyon)

शिवाष्ट्कम्: जय शिवशंकर, जय गंगाधर.. पार्वती पति, हर हर शम्भो (Shivashtakam: Jai ShivShankar Jai Gangadhar, Parvati Pati Har Har Shambhu)

श्री सत्यनारायण कथा - पंचम अध्याय (Shri Satyanarayan Katha Pancham Adhyay)

सीता राम, सीता राम, सीताराम कहिये: भजन (Sita Ram Sita Ram Sita Ram Kahiye)