भजन: मैं तो संग जाऊं बनवास, स्वामी.. (Bhajan: Main Too Sang Jaun Banwas)

मैं तो संग जाऊं बनवास

मैं तो संग जाऊं बनवास

मैं तो संग जाऊं बनवास

स्वामी ना करना निराश

पग पग संग जाऊं जाऊं बनवास

हे मैं तो संग जाऊं बनवास



उपर है अग्नि की छतरी नीचे तपती बाली

उपर है अग्नि की छतरी नीचे तपती बाली

पाँव में पड़ेंगें छाले ना जाओ बनवास

हे मैं तो संग जाऊं बनवास

मैं तो संग जाऊं बनवास



तुम हो सूर्यवंशी स्वामी रखो अपनी छाया

तुम हो सूर्यवंशी स्वामी रखो अपनी छाया

छाव में चलूँ तुम्हारी तुम ही मेरी माया

मैं तो संग जाऊं बनवास

मैं तो संग जाऊं बनवास



जंगल बन मे घूमे हाथी भालू शेर और हिरना

जंगल बन मे घूमे हाथी भालू शेर और हिरना

नारी हो तुम डर जाओगी

ना जाओ बनवास

हे मैं तो संग जाऊं बनवास

मैं तो संग जाऊं बनवास



तुम तो योद्धावीर हो स्वामी तुम ही रक्षा करना

तुम तो योद्धावीर हो स्वामी तुम ही रक्षा करना

बाण तुम्हारे काँधे सोहे संग हो तो क्या डरना

मैं तो संग जाऊं बनवास

स्वामी ना करना निराश

पग पग संग जाऊं जाऊं बनवास

हे मैं तो संग जाऊं बनवास

मैं तो संग जाऊं बनवास

मैं तो संग जाऊं बनवास



- भूपेन हजारिका

॥दारिद्र्य दहन शिवस्तोत्रं॥ (Daridraya Dahana Shiv Stotram)

मैं तो आई वृन्दावन धाम, किशोरी तेरे चरनन में (Main Too Aai Vrindavan Dham Kishori Tere Charanan Main)

भजन: हे शम्भू बाबा मेरे भोले नाथ (Hey Shambhu Baba Mere Bhole Nath)

भजन: छम छम नाचे देखो वीर हनुमाना! (Bhajan: Cham Cham Nache Dekho Veer Hanumana)

राम तुम बड़े दयालु हो: भजन (Ram Tum Bade Dayalu Ho)

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य कथा: अध्याय 13 (Purushottam Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 13)

प्रेरक कथा: श्री कृष्ण मोर से, तेरा पंख सदैव मेरे शीश पर होगा! (Prerak Katha Shri Krishn Mor Se Tera Aankh Sadaiv Mere Shish)

विनती: दीनानाथ मेरी बात, छानी कोणी तेरे से (Dinanath Meri Baat Chani Koni Tere Se)

भजन: हर बात को भूलो मगर.. (Har Baat Ko Tum Bhulo Bhale Maa Bap Ko Mat Bhulna)

जानकी स्तुति - भइ प्रगट किशोरी (Janaki Stuti - Bhai Pragat Kishori)

प्रेरक कथा: नारायण नाम की महिमा! (Prerak Katha Narayan Nam Ki Mahima)

गुरु मेरी पूजा, गुरु गोबिंद, गुरु मेरा पारब्रह्म: भजन (Guru Meri Puja Guru Mera Parbrahma)