शंकर शिव शम्भु साधु सन्तन सुखकारी: भजन (Shankar Shiv Shambhu Sadhu Santan Sukhkari)

राम नाम मधुबन का,

भ्रमर बना, मन शिव का।


निश दिन सिमरन करता,

नाम पुण्यकारी॥



शंकर शिव शम्भु,

साधु सन्तन सुखकारी ॥

निश दिन सिमरन करते,

नाम पुण्यकारी ॥



लोचन त्रय अति विशाल,

सोहे नव चन्द्र भाल,

रुण्ड मुण्ड व्याल माल,

जटा गंग धारी ।

शंकर शिव शम्भु,

साधु सन्तन सुखकारी ॥



शंकर शिव शम्भु,

साधु सन्तन सुखकारी ॥

सतत जपत राम नाम,

अतिशय शुभकारी ॥



पारवती पति सुजान,

प्रमथ राज वृषभ यान,

सुर नर मुनि सैव्यमान,

त्रिविध ताप हारी ।

शंकर शिव शम्भु,

साधु सन्तन सुखकारी ॥



औघड़ दानी महान,

कालकूट कियो पान,

आरत-हर तुम समान,

को है त्रिपुरारी।

शंकर शिव शम्भु,

साधु सन्तन सुखकारी ॥

भजन: बेटा जो बुलाए माँ को आना चाहिए (Beta Jo Bulaye Maa Ko Aana Chahiye)

आली री मोहे लागे वृन्दावन नीको: भजन (Aali Ri Mohe Lage Vrindavan Neeko)

तत्त्वमसि महावाक्य (Tatwamasi)

नगरी हो अयोध्या सी, रघुकुल सा घराना हो (Nagri Ho Ayodhya Si, Raghukul Sa Gharana Ho)

भजन: हमने आँगन नहीं बुहारा.. (Hamne Aangan Nahi Buhara, Kaise Ayenge Bhagwan)

आरती: श्री महावीर भगवान | जय सन्मति देवा (Shri Mahaveer Bhagwan 3 Jai Sanmati Deva)

रम गयी माँ मेरे रोम रोम में: भजन (Ram Gayi Maa Mere Rom Rom Main)

हरी दर्शन की प्यासी अखियाँ: भजन (Akhiya Hari Darshan Ki Pyasi)

भजन: शंकर जी का डमरू बाजे (Shankarji Ka Damroo Baje From Movie Bal Ganesh)

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य कथा: अध्याय 1 (Purushottam Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 1)

सखी री बांके बिहारी से हमारी लड़ गयी अंखियाँ (Sakhi Ri Bank Bihaari Se Hamari Ladgayi Akhiyan)

भजन: जो खेल गये प्राणो पे, श्री राम के लिए! (Jo Khel Gaye Parano Pe Bhajan)