शंकर शिव शम्भु साधु सन्तन सुखकारी: भजन (Shankar Shiv Shambhu Sadhu Santan Sukhkari)

राम नाम मधुबन का,

भ्रमर बना, मन शिव का।


निश दिन सिमरन करता,

नाम पुण्यकारी॥



शंकर शिव शम्भु,

साधु सन्तन सुखकारी ॥

निश दिन सिमरन करते,

नाम पुण्यकारी ॥



लोचन त्रय अति विशाल,

सोहे नव चन्द्र भाल,

रुण्ड मुण्ड व्याल माल,

जटा गंग धारी ।

शंकर शिव शम्भु,

साधु सन्तन सुखकारी ॥



शंकर शिव शम्भु,

साधु सन्तन सुखकारी ॥

सतत जपत राम नाम,

अतिशय शुभकारी ॥



पारवती पति सुजान,

प्रमथ राज वृषभ यान,

सुर नर मुनि सैव्यमान,

त्रिविध ताप हारी ।

शंकर शिव शम्भु,

साधु सन्तन सुखकारी ॥



औघड़ दानी महान,

कालकूट कियो पान,

आरत-हर तुम समान,

को है त्रिपुरारी।

शंकर शिव शम्भु,

साधु सन्तन सुखकारी ॥

राम रस बरस्यो री, आज म्हारे आंगन में (Ram Ras Barsyo Re, Aaj Mahre Angan Main)

ना जी भर के देखा, ना कुछ बात की: भजन (Na Jee Bhar Ke Dekha Naa Kuch Baat Ki)

हमारे हैं श्री गुरुदेव, हमें किस बात की चिंता (Hamare Hain Shri Gurudev Humen Kis Bat Ki Chinta)

बाहुबली से शिव तांडव स्तोत्रम, कौन-है वो (Shiv Tandav Stotram And Kon Hai Woh From Bahubali)

सोमवार व्रत कथा (Somvar Vrat Katha)

मंत्र: ॐ सर्वे भवन्तु सुखिनः। (Om Sarve Bhavantu Sukhinaha)

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य कथा: अध्याय 2 (Purushottam Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 2)

मुझे अपनी शरण में ले लो राम: भजन (Mujhe Apni Sharan Me Lelo Ram)

मेरे राम मेरे घर आएंगे, आएंगे प्रभु आएंगे: भजन (Mere Ram Mere Ghar Ayenge Ayenge Prabhu Ayenge)

कनकधारा स्तोत्रम्: अङ्गं हरेः पुलकभूषणमाश्रयन्ती (Kanakadhara Stotram: Angam Hareh Pulaka Bhusanam Aashrayanti)

माँ! मुझे तेरी जरूरत है। (Maa! Mujhe Teri Jarurat Hai)

मंत्र: शिव तांडव स्तोत्रम् (Shiv Tandav Stotram)