दुर्गा है मेरी माँ, अम्बे है मेरी माँ: भजन (Durga Hai Meri Maa Ambe Hai Meri Maa)

दुर्गा है मेरी माँ,

अम्बे है मेरी माँ॥



जय बोलो जय माता दी, जय हो॥

जो भी दर पे आए, जय हो॥

वो खाली न जाए, जय हो॥

सबके काम है करती, जय हो॥

सबके दुखरे हरती, जय हो॥

मैया मेरी शेरोवाली, जय हो॥

भरदे झोली खाली, जय हो॥

मैया मेरी शेरोवाली, जय हो॥

भरदे झोली खाली जय हो॥



दुर्गा है मेरी माँ, अम्बे है मेरी माँ॥



सारे जग को खेल खिलाये

बिच्डो को जो खूब मिलाये

दुर्गा है मेरी माँ, अम्बे है मेरी माँ॥



पूरे करे अरमान जो सारे,

देती है वरदान जो सारे

दुर्गा है मेरी माँ, अम्बे है मेरी माँ॥

करवा चौथ व्रत कथा: साहूकार के सात लड़के, एक लड़की की कहानी (Karwa Chauth Vrat Katha)

श्री कुबेर अष्टोत्तर शतनामावली - 108 नाम (Shri Kuber Ashtottara Shatanamavali - 108 Names)

चलो बुलावा आया है, माता ने बुलाया है: भजन (Chalo Bulawa Aaya Hai Mata Ne Bulaya Hai)

भजन: बृज के नंदलाला राधा के सांवरिया (Brij Ke Nandlala Radha Ke Sanwariya)

आनंद ही आनंद बरस रहा: भजन (Aanand Hi Aanand Baras Raha)

जो शिव को ध्याते है, शिव उनके है: भजन (Jo Shiv Ko Dhyate Hain Shiv Unke Hain)

मुझे चरणों से लगाले, मेरे श्याम मुरली वाले: भजन (Mujhe Charno Se Lagale Mere Shyam Murli Wale)

श्री सत्यनारायण जी आरती (Shri Satyanarayan Ji Ki Aarti)

जय जय राधा रमण हरी बोल: भजन (Jai Jai Radha Raman Hari Bol)

कनकधारा स्तोत्रम्: अङ्गं हरेः पुलकभूषणमाश्रयन्ती (Kanakadhara Stotram: Angam Hareh Pulaka Bhusanam Aashrayanti)

जगत के रंग क्या देखूं: भजन (Jagat Ke Rang Kya Dekhun)

रघुवर श्री रामचन्द्र जी आरती (Raghuvar Shri Ramchandra Ji)