भजन: गणपति आज पधारो, श्री रामजी की धुन में (Ganapati Aaj Padharo Shri Ramaji Ki Dhun Me)

गणपति आज पधारो,

श्री रामजी की धुन में ।

गणपति आज पधारो,

श्री रामजी की धुन में ।



रामजी की धुन में,

श्री रामजी की धुन में ।

मोदक भोग लगाओ,

श्री रामजी की धुन में ॥



गणपति आज पधारो,

श्री रामजी की धुन में ।



गणपति आज पधारो,

और रिद्धि सिद्धि लाओ ।

सुख आनंद बरसाओ,

श्री रामजी की धुन में ॥



गणपति आज पधारो,

श्री रामजी की धुन में ।



हनुमंत आज पधारो,

देवा पवन वेग से आओ ।

बल बुद्धि दे जाओ,

श्री रामजी की धुन में ॥



गणपति आज पधारो,

श्री रामजी की धुन में ।



ब्रम्हाजी पधारो,

माता ब्रम्हाणी को लाओ ।

वेद ज्ञान समझाओ,

श्री रामजी की धुन में ॥



गणपति आज पधारो,

श्री रामजी की धुन में ।



नारद आज पधारो,

छम छम, छम कर ताल बजाओ ।

नारायण गुण गाओ,

श्री रामजी की धुन में ॥



गणपति आज पधारो,

श्री रामजी की धुन में ।



प्रेम मगन हो जाओ भक्तो,

राम नाम गुण गाओ ।

सुर मंदिर में आओ,

श्री रामजी की धुन में ॥



गणपति आज पधारो,

श्री रामजी की धुन में ।

गणपति आज पधारो,

श्री रामजी की धुन में ।

मेरी आखिओं के सामने ही रहना: भजन (Meri Akhion Ke Samne Hi Rehina Oh Shero Wali Jagdambe)

भजन: हरि जी! मेरी लागी लगन मत तोडना.. (Hari Ji Meri Lagi Lagan Mat Todna)

भजन: भारत के लिए भगवन का एक वरदान है गंगा! (Bharat Ke Liye Bhagwan Ka Ek Vardan Hai Maa Ganga)

हे मेरे गुरुदेव करुणा सिन्धु करुणा कीजिये! (He Mere Gurudev Karuna Sindhu Karuna Keejiye)

वो कौन है जिसने हम को दी पहचान है (Wo Kon Hai Jisne Humko Di Pahachan Hai)

श्याम के बिना तुम आधी: भजन (Shyam Ke Bina Tum Aadhi)

भजन: उठो सोने वालों सबेरा हुआ है (Utho Sone Walo Sabera Hua Hai)

काक चेष्टा, बको ध्यानं: आदर्श विद्यार्थी के पांच लक्षण (Kaak Cheshta Vidyarthee Ke Panch Gun)

सज रही मेरी अम्बे मैया - माता भजन (Saj Rahi Meri Ambe Maiya Sunahare Gote Mein)

लगन तुमसे लगा बैठे, जो होगा देखा जाएगा। (Lagan Tumse Laga Baithe Jo Hoga Dekha Jayega)

ऋण मोचक मङ्गल स्तोत्रम् (Rin Mochan Mangal Stotram)

आरती: श्री बाल कृष्ण जी (Aarti: Shri Bal Krishna Ki Keejen)