दुनिया बावलियों बतलावे.. श्री श्याम भजन (Duniyan Bawaliyon Batlawe)

तू भी तो कोनी आवे,

दुनिया बावलियों बतलावे।



दोहा:

सावन आवन कह गया रे,

कर गया कोल अनेक,

गिणता गिणता घिस गई रे,

म्हारी आंगलिया री रेख ।



तू भी तो कोनी आवे,

दुनिया बावलियों बतलावे,

थारी ओल्यू घणी आवे,

दुनिया बावलियों बतलावे,

बावलियों बतलावे रे मन्ने,

बावलियों बतलावे रे मन्ने,

बावलियों बतलावे,

तु भी तो कोनी आवे,

दुनिया बावलियों बतलावे,

थारी ओल्यू घणी आवे,

दुनिया बावलियों बतलावे ॥



हेलो सुण ले सांवरा रे,

हो गई घणी अंधेर,

तू ही तो खाया से झूठा,

भीलनी के घर बेर,

तरसावे सांवरिया तू क्यों,

हिवड़ो हरी जस गावे,

तु भी तो कोनी आवे,

दुनिया बावलियों बतलावे,

थारी ओल्यू घणी आवे,

दुनिया बावलियों बतलावे ॥



बिच सभा में खड़ी द्रोपदी,

नैना बरसे नीर

तू ही बता गिरधारी वाको,

कौण बढ़ायो चीर,

डुब्या गज ने भाग बचायो,

सांवरिया क्यों सतावे,

तु भी तो कोनी आवे,

दुनिया बावलियों बतलावे,

थारी ओल्यू घणी आवे,

दुनिया बावलियों बतलावे ॥



नींदडली दिन रात कटे रे,

कद खिचोला डोर,

कुछ भी कोन्या भावे जब से,

ले गयो तू चित चोर,

प्रीत लगाकर के पछताणो,

प्रीत लगाकर के पछताणो,

लहरी हसतो जावे रे,

तु भी तो कोनी आवे,

दुनिया बावलियों बतलावे,

थारी ओल्यू घणी आवे,

दुनिया बावलियों बतलावे ॥



तू भी तो कोनी आवे,

दुनिया बावलियों बतलावे,

थारी ओल्यू घणी आवे,

दुनिया बावलियों बतलावे,

बावलियों बतलावे रे मन्ने,

बावलियों बतलावे रे मन्ने,

बावलियों बतलावे,

तु भी तो कोनी आवे,

दुनिया बावलियों बतलावे,

थारी ओल्यू घणी आवे,

दुनिया बावलियों बतलावे ॥

कार्तिक मास माहात्म्य कथा: अध्याय 7 (Kartik Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 7)

जिसकी लागी रे लगन भगवान में..! (Jiski Lagi Re Lagan Bhagwan Mein)

भजन: आ माँ आ तुझे दिल ने पुकारा। (Aa Maa Aa Tujhe Dil Ne Pukara)

चलो बुलावा आया है, माता ने बुलाया है: भजन (Chalo Bulawa Aaya Hai Mata Ne Bulaya Hai)

भजन: पायो जी मैंने राम रतन धन पायो। (Bhajan: Piyo Ji Maine Ram Ratan Dhan Payo)

मंगल गीत: हेरी सखी मंगल गावो री.. (Mangal Geet: Heri Sakhi Mangal Gavo Ri..)

जय जय शनि देव महाराज: भजन (Aarti Jai Jai Shanidev Maharaj)

रामजी भजन: मंदिर बनेगा धीरे धीरे (Ramji Ka Mandir Banega Dheere Dheere)

जन्मे अवध रघुरइया हो: भजन (Janme Awadh Raghuraiya Ho)

भजन: गाइये गणपति जगवंदन (Gaiye Ganpati Jagvandan)

श्री राधे गोविंदा, मन भज ले हरी का प्यारा नाम है। (Shri Radhe Govinda Man Bhaj Le Hari Ka Pyara Naam Hai)

करवा चौथ व्रत कथा: द्रौपदी को श्री कृष्ण ने सुनाई कथा! (Karwa Chauth Vrat Katha)