वो कौन है जिसने हम को दी पहचान है (Wo Kon Hai Jisne Humko Di Pahachan Hai)

वो कौन है जिसने,

हम को दी पहचान है,

कोई और नहीं वो,

खाटू वाला श्याम है,

जिसकी रहमत से होता,

हर एक काम है,

जिसकी रहमत से होता,

हर एक काम है,

मेरा श्याम है,

मेरा श्याम है ।

वो कौन है जिसने,

हम को दी पहचान है,

कोई और नहीं वो,

खाटू वाला श्याम है ॥



हर चाहत पूरी कर दी,

दिल की आवाज को सुनकर,

फूलों की सेज सजा दी,

राहों से कांटे चुनकर,

ये किसकी कृपा से,

हर सुख हर आराम है,

मेरा श्याम है, मेरा श्याम है ।



वो कौन है जिसने,

हम को दी पहचान है,

कोई और नहीं वो,

खाटू वाला श्याम है ॥



मुझे याद है बीते दिन वो,

जब खुशियां थी ओझल सी,

हर दिन था दुःख से मिलना,

हर घड़ियाँ थी मुश्किल सी,

फिर किसने आकर,

उनको दिया विराम है,

मेरा श्याम है, मेरा श्याम है ।



वो कौन है जिसने,

हम को दी पहचान है,

कोई और नहीं वो,

खाटू वाला श्याम है ॥



कंकर को मोती कर दे,

पत्थर में फूल खिलाए,

इस जग में एक ही है जो,

मिटटी में नाव चलाए,

वो कौन है जो गिरते को,

लेता थाम है,

मेरा श्याम है, मेरा श्याम है ।



वो कौन है जिसने,

हम को दी पहचान है,

कोई और नहीं वो,

खाटू वाला श्याम है ॥



हमने तो वो भी पाया,

जो ना था हमारे हक़ में,

‘सोनू’ का नाम लिखा है,

तुमने ही आज फलक में,

ये किसकी बदौलत,

चेहरे पर मुस्कान है,

मेरा श्याम है, मेरा श्याम है ।



वो कौन है जिसने,

हम को दी पहचान है,

कोई और नहीं वो,

खाटू वाला श्याम है ॥



वो कौन है जिसने,

हम को दी पहचान है,

कोई और नहीं वो,

खाटू वाला श्याम है,

जिसकी रहमत से होता,

हर एक काम है,

जिसकी रहमत से होता,

हर एक काम है,

मेरा श्याम है,

मेरा श्याम है ।

वो कौन है जिसने,

हम को दी पहचान है,

कोई और नहीं वो,

खाटू वाला श्याम है ॥



संगीतकार: रश्मि शर्मा

श्री कुबेर अष्टोत्तर शतनामावली - 108 नाम (Shri Kuber Ashtottara Shatanamavali - 108 Names)

गुरु मेरी पूजा, गुरु गोबिंद, गुरु मेरा पारब्रह्म: भजन (Guru Meri Puja Guru Mera Parbrahma)

श्री ललिता माता की आरती (Shri Lalita Mata Ki Aarti)

श्री सत्यनारायण कथा - द्वितीय अध्याय (Shri Satyanarayan Katha Dwitiya Adhyay)

श्री सिद्धिविनायक आरती: जय देव जय देव (Shri Siddhivinayak Aarti: Jai Dev Jai Dev)

आदित्य-हृदय स्तोत्र (Aditya Hridaya Stotra)

महा शिवरात्रि पूजन पौराणिक व्रत कथा (Maha Shivaratri Pujan Pauranik Vrat Katha)

बारिशों की छम छम में - नवरात्रि भजन (Barisho Ki Cham Cham Mein)

छोटी सी किशोरी मोरे अंगना मे डोले रे (Chhoti Si Kishori More Angana Me Dole Re)

बालाजी मने राम मिलन की आस: भजन (Balaji Mane Ram Milan Ki Aas)

रामजी भजन: मंदिर बनेगा धीरे धीरे (Ramji Ka Mandir Banega Dheere Dheere)

भजन: शिव शंकर को जिसने पूजा उसका ही उद्धार हुआ (Shiv Shankar Ko Jisne Pooja)