उनकी रेहमत का झूमर सजा है: भजन (Unki Rehmat Ka Jhoomar Saja Hai)

उनकी रेहमत का झूमर सजा है ।

मुरलीवाले की महफिल सजी है ॥



मेरी झोली भी सरकार भर दो,

अपने सब की झोली भरी है,

अपनी महफिल से भेजो न खाली,

अपने सबकी झोली भरी है ॥



उनकी रेहमत का झूमर सजा है ।

मुरलीवाले की महफिल सजी है ॥



मुझको महसूस यह हो रहा है,

तेरी महफिल में करुणा भरी है,

अपनी महफिल में करुना भरसा दो,

कमलीवाले की महफिल सजी है ॥



उनकी रेहमत का झूमर सजा है ।

मुरलीवाले की महफिल सजी है ॥



तुमे अपना समजने मैं आया,

मांगने को तो दुनिया पड़ी है,

मुझे अपना समज के दया कर,

तेरी महफिल में करुना भरी है ॥



उनकी रेहमत का झूमर सजा है ।

मुरलीवाले की महफिल सजी है ॥



तेरे दर से ना कोई खाली,

अपने सब की झोली भरी है,

मेरी झोली भी सरकार भर दो

अपने सब की झोली भरी है ॥



उनकी रेहमत का झूमर सजा है ।

मुरलीवाले की महफिल सजी है ॥



श्याम राधे राधे, घनश्याम राधे राधे ।

श्याम राधे राधे, घनश्याम राधे राधे ।

श्याम राधे राधे, घनश्याम राधे राधे ।

कुंज मे विराजे, घनश्याम राधे राधे ।

कुंज मे विराजे, घनश्याम राधे राधे ।

कुंज मे विराजे, घनश्याम राधे राधे ।

श्री वृंदावन, राधे राधे ।

श्री वृंदावन, राधे राधे ।

श्री वृंदावन, राधे राधे ।

देना हो तो दीजिए जनम जनम का साथ। (Dena Ho To Dijiye Janam Janam Ka Sath)

भजन: ऐसो चटक मटक सो ठाकुर.. (Aiso Chatak Matak So Thakur)

भजन: हरी नाम सुमिर सुखधाम, जगत में... (Hari Nam Sumir Sukhdham Jagat Mein)

दे प्रभो वरदान ऐसा: प्रार्थना (De Prabhu Vardan Yesa: Prarthana)

इस योग्य हम कहाँ हैं, गुरुवर तुम्हें रिझायें: भजन (Is Yogya Ham Kahan Hain, Guruwar Tumhen Rijhayen)

वट सावित्री व्रत कथा (Vat Savitri Vrat Katha)

न मैं धान धरती न धन चाहता हूँ: कामना (Na Dhan Dharti Na Dhan Chahata Hun: Kamana)

मंत्र: श्री शिव पंचाक्षर स्तोत्र (Shri Shiv Panchakshar Stotram)

अनमोल तेरा जीवन, यूँ ही गँवा रहा है: भजन (Anmol Tera Jeevan Yuhi Ganwa Raha Hai)

पत्नीं मनोरमां देहि - सुंदर पत्नी प्राप्ति मंत्र (Patni Manoraman Dehi)

भजन: कुमार मैने देखे, सुंदर सखी दो कुमार! (Bhajan: Kumar Maine Dekhe, Sundar Sakhi Do Kumar)

धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये, तीन लोक: भजन (Dhan Dhan Bholenath Bant Diye Teen Lok)