उनकी रेहमत का झूमर सजा है: भजन (Unki Rehmat Ka Jhoomar Saja Hai)

उनकी रेहमत का झूमर सजा है ।

मुरलीवाले की महफिल सजी है ॥



मेरी झोली भी सरकार भर दो,

अपने सब की झोली भरी है,

अपनी महफिल से भेजो न खाली,

अपने सबकी झोली भरी है ॥



उनकी रेहमत का झूमर सजा है ।

मुरलीवाले की महफिल सजी है ॥



मुझको महसूस यह हो रहा है,

तेरी महफिल में करुणा भरी है,

अपनी महफिल में करुना भरसा दो,

कमलीवाले की महफिल सजी है ॥



उनकी रेहमत का झूमर सजा है ।

मुरलीवाले की महफिल सजी है ॥



तुमे अपना समजने मैं आया,

मांगने को तो दुनिया पड़ी है,

मुझे अपना समज के दया कर,

तेरी महफिल में करुना भरी है ॥



उनकी रेहमत का झूमर सजा है ।

मुरलीवाले की महफिल सजी है ॥



तेरे दर से ना कोई खाली,

अपने सब की झोली भरी है,

मेरी झोली भी सरकार भर दो

अपने सब की झोली भरी है ॥



उनकी रेहमत का झूमर सजा है ।

मुरलीवाले की महफिल सजी है ॥



श्याम राधे राधे, घनश्याम राधे राधे ।

श्याम राधे राधे, घनश्याम राधे राधे ।

श्याम राधे राधे, घनश्याम राधे राधे ।

कुंज मे विराजे, घनश्याम राधे राधे ।

कुंज मे विराजे, घनश्याम राधे राधे ।

कुंज मे विराजे, घनश्याम राधे राधे ।

श्री वृंदावन, राधे राधे ।

श्री वृंदावन, राधे राधे ।

श्री वृंदावन, राधे राधे ।

त्रिमूर्तिधाम: श्री हनुमान जी की आरती (Hanuman Ji Ki Aarti Trimurtidham)

मेरे राम मेरे घर आएंगे, आएंगे प्रभु आएंगे: भजन (Mere Ram Mere Ghar Ayenge Ayenge Prabhu Ayenge)

रामजी भजन: मंदिर बनेगा धीरे धीरे (Ramji Ka Mandir Banega Dheere Dheere)

सबसे ऊंची प्रेम सगाई: भजन (Bhajan: Sabse Unchi Prem Sagai)

श्री कृष्णाष्टकम् - आदि शंकराचार्य (Krishnashtakam By Adi Shankaracharya)

कार्तिक मास माहात्म्य कथा: अध्याय 1 (Kartik Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 1)

बधाई भजन: लल्ला की सुन के मै आयी यशोदा मैया देदो! (Lalla Ki Sun Ke Mai Aayi Yashoda Maiya Dedo Badhai)

कार्तिक मास माहात्म्य कथा: अध्याय 11 (Kartik Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 11)

जगन्नाथ मंगल आरती (Jagannath Mangal Aarti)

श्री सत्यनारायण कथा - प्रथम अध्याय (Shri Satyanarayan Katha Pratham Adhyay)

मैं परदेशी हूँ पहली बार आया हूँ: भजन (Main Pardesi Hun Pehli Bar Aaya Hun)

मंत्र: ॐ सर्वे भवन्तु सुखिनः। (Om Sarve Bhavantu Sukhinaha)