तुम्हारी जय हो वीर हनुमान भजन (Tumhari Jai Ho Veer Hanuman Bhajan)

तुम्हारी जय हो वीर हनुमान,

ओ रामदूत मतवाले हो बड़े दिल वाले,

जगत में ऊंची तुम्हारी शान,

तुम्हारी जय हो वीर हनुमान ।



भूख लगी तो समझ के फल,

सूरज को मुख में डाला,

अन्धकार फैला सृष्टि में,

हाहाकार विकराला,

आन करि विनती देवो ने,

विपदा को किया निवार,

तुम्हारी जय हो वीर हनुमान ।



सोने की लंका को जला कर,

राख का ढेर बनाया,

तहस-नहस बगियन कर दी,

अक्षय को मार गिराया,

लाये संजीवन बूटी,

बचाई भाई लखन की जान,

तुम्हारी जय हो वीर हनुमान ।



रोम रोम में राम रमे बस,

राम भजन ही भाये,

सरल तुम्हारा भजन करे जो,

संकट उस के मिटाये,

तेल सिंधुर चढ़ाये जो,

लखा दिया अबे का दान,

तुम्हारी जय हो वीर हनुमान ।



तुम्हारी जय हो वीर हनुमान,

ओ रामदूत मतवाले हो बड़े दिल वाले,

जगत में ऊंची तुम्हारी शान,

तुम्हारी जय हो वीर हनुमान ।

भगवान राम के राजतिलक में निमंत्रण से छूटे भगवान चित्रगुप्त (Ram Ke Rajtilak Me Nimantran Se Chhute Bhagwan Chitragupt)

बेटा बुलाए झट दौड़ी चली आए माँ: भजन (Beta Bulaye Jhat Daudi Chali Aaye Maa)

भजन: लेके गौरा जी को साथ भोले-भाले भोले नाथ! (Leke Gaura Ji Ko Sath Bhole Bhale Bhole Nath)

कहा प्रभु से बिगड़ता क्या: भजन (Kaha Prabhu Se Bigadta Kya)

राम नाम जपते रहो, जब तक घट घट मे प्राण (Ram Nam Japte Raho, Jab Tak Ghat Ghat Me Ram)

आओ भोग लगाओ प्यारे मोहन: भोग आरती (Aao Bhog Lagao Mere Mohan: Bhog Aarti)

अपरा / अचला एकादशी व्रत कथा (Apara / Achala Ekadashi Vrat Katha)

श्री जग्गनाथ आरती - चतुर्भुज जगन्नाथ (Shri Jagganath Aarti - Chaturbhuja Jagannatha)

हरि का भजन करो, हरि है तुम्हारा! (Hari Ka Bhajan Karo, Hari Hai Tumhara!)

माँ दुर्गा देव्यापराध क्षमा प्रार्थना स्तोत्रं! (Maa Durga Kshama Prarthna Stotram)

श्री सूर्य देव - ऊँ जय सूर्य भगवान (Shri Surya Dev Om Jai Surya Bhagwan)

कब दर्शन देंगे राम परम हितकारी: भजन (Kab Darshan Denge Ram Param Hitkari)