श्यामा तेरे चरणों की, गर धूल जो मिल जाए: भजन (Shyama Tere Charno Ki, Gar Dhool Jo Mil Jaye)

श्यामा तेरे चरणों की,

राधे तेरे चरणों की,

गर धूल जो मिल जाए ।

सच कहता हूँ मेरी

तकदीर बदल जाए ॥



श्यामा तेरे चरणों की,

राधे तेरे चरणों की



सुनता हूँ तेरी रहमत,

दिन रात बरसती है ।

एक बूँद जो मिल जाए,

दिल की कली खिल जाए ॥



श्यामा तेरे चरणों की,

राधे तेरे चरणों की



यह मन बड़ा चंचल है,

कैसे तेरा भजन करूँ ।

जितना इसे समझाऊं,

उतना ही मचल जाए ॥



श्यामा तेरे चरणों की,

राधे तेरे चरणों की



नजरों से गिराना ना,

चाहे जितनी सजा देना ।

नजरों से जो गिर जाए,

मुश्किल ही संभल पाए ॥



श्यामा तेरे चरणों की,

राधे तेरे चरणों की



श्यामा इस जीवन की

बस एक तमन्ना है ।

तुम सामने हो मेरे और

प्राण निकल जाए ॥



श्यामा तेरे चरणों की,

राधे तेरे चरणों की,

गर धूल जो मिल जाए ।

सच कहता हूँ मेरी

तकदीर बदल जाए ॥

मैं तो आई वृन्दावन धाम, किशोरी तेरे चरनन में (Main Too Aai Vrindavan Dham Kishori Tere Charanan Main)

ले चल अपनी नागरिया, अवध बिहारी साँवरियाँ: भजन (Le Chal Apni Nagariya, Avadh Bihari Sanvariya)

सर को झुकालो, शेरावाली को मानलो - भजन (Sar Ko Jhukalo Sherawali Ko Manalo)

तुलसी आरती - महारानी नमो-नमो (Tulsi Aarti - Maharani Namo Namo)

यहाँ वहाँ जहाँ तहाँ - माँ संतोषी भजन (Yahan Wahan Jahan Tahan)

पार्श्व एकादशी व्रत कथा! (Parshva Ekadashi Vrat Katha)

जय जय जननी श्री गणेश की: भजन (Jai Jai Janani Shri Ganesh ki)

विन्ध्येश्वरी आरती: सुन मेरी देवी पर्वतवासनी (Sun Meri Devi Parvat Vasani)

जिन पर कृपा राम करे: भजन (Jin Par Kirpa Ram Kare)

आरती: श्री गणेश - शेंदुर लाल चढ़ायो (Shri Ganesh Shendur Laal Chadhayo)

राघवजी तुम्हें ऐसा किसने बनाया: भजन (Raghav Ji Tumhe Aisa Kisne Banaya)

माँ शारदे कहाँ तू, वीणा बजा रही हैं: भजन (Maa Sharde Kaha Tu Veena Baja Rahi Hain)