मुझे कौन जानता था तेरी बंदगी से पहले: भजन (Mujhe Kaun Poochhta Tha Teri Bandagi Se Pahle)

मुझे कौन जानता था,

तेरी बंदगी से पहले,

मैं बुझा हुआ दिया था,

तेरी बंदगी से पहले ॥




मैं तो खाख था जरा सी,


मेरी और क्या थी हस्ती,


मैं थपेड़े खा रहा था,


तूफ़ान में जैसे कश्ती,


दर दर भटक रहा था,


तेरी बंदगी से पहले ॥



मुझे कौन जानता था,

तेरी बंदगी से पहले,

मैं बुझा हुआ दिया था,

तेरी बंदगी से पहले ॥




मैं था इस तरह जहां में,


जैसे खाली सीप होती,


मेरी बढ़ गई है कीमत,


तूने भर दिए है मोती,


मेरा कौन आसरा था,


तेरी बंदगी से पहले ॥



मुझे कौन जानता था,

तेरी बंदगी से पहले,

मैं बुझा हुआ दिया था,

तेरी बंदगी से पहले ॥




है जहां में मेरे लाखो,


पर तेरे जैसा कौन होगा,


जैसा तू बन्दा पल्वर,


भला एसा कौन होगा,


मैं तुझे ही ढूंडता हूँ,


तेरी बंदगी से पहले




मुझे कौन जानता था,

तेरी बंदगी से पहले,

मैं बुझा हुआ दिया था,

तेरी बंदगी से पहले ॥




तू जो मेहरबान हुआ है,


तो जहां भी मेहरबान है,


ये ज़मीन मेहरबान है,


आसमान भी मेहरबान है,


ना ये गीत ये बला था,


तेरी बंदगी से पहले ॥



मुझे कौन जानता था,

तेरी बंदगी से पहले,

मैं बुझा हुआ दिया था,

तेरी बंदगी से पहले ॥

ॐ श्री विष्णु मंत्र: मङ्गलम् भगवान विष्णुः (Shri Vishnu Mantra)

श्रीदेवीजी की आरती - जगजननी जय! जय! (Shri Deviji Ki Aarti - Jaijanani Jai Jai)

माँ तुलसी अष्टोत्तर-शतनाम-नामावली (Tulsi Ashtottara Shatnam Namavali)

परिश्रम करे कोई कितना भी लेकिन: भजन (Parishram Kare Koi Kitana Bhi Lekin)

श्री हनुमान अष्टोत्तर-शतनाम-नामावली (Shri Hanuman Ashtottara-Shatnam Namavali)

मैं तो आरती उतारूँ रे संतोषी माता की - माँ संतोषी भजन (Main Toh Aarti Utaru Re Santoshi Mata Ki)

भोग भजन: जीमो जीमो साँवरिया थे (Jeemo Jeemo Sanwariya Thye)

आरती माँ लक्ष्मीजी - ॐ जय लक्ष्मी माता (Shri Laxmi Mata - Om Jai Lakshmi Mata)

जय जय राधा रमण हरी बोल: भजन (Jai Jai Radha Raman Hari Bol)

सज रही मेरी अम्बे मैया - माता भजन (Saj Rahi Meri Ambe Maiya Sunahare Gote Mein)

ऐ मुरली वाले मेरे कन्हैया, बिना तुम्हारे.. (Ae Murliwale Mere Kanhaiya, Bina Tumhare Tadap Rahe Hain)

कर्पूरगौरं करुणावतारं। (Karpura Gauram Karuna Avataram)