कृष्ण जिनका नाम है: भजन (Krishna Jinka Naam Hai Gokul Jinka Dham Hai Bhajan)

कृष्ण जिनका नाम है,

गोकुल जिनका धाम है,

ऐसे श्री भगवान को,

बारंबार प्रणाम है।



यशोदा जिनकी मैया है,

नंद जी बापैया है,

ऐसे श्री गोपाल को,

बारंबार प्रणाम है।

॥ कृष्ण जिनका नाम है...॥



लूट-लूट दधि माखन खायो,

ग्वाल-बाल संग धेनु चरायो,

ऐसे लीला-धाम को,

बारंबार प्रणाम है।

॥ कृष्ण जिनका नाम है...॥



कृष्ण जिनका नाम है,

गोकुल जिनका धाम है,

ऐसे श्री भगवान को,

बारंबार प्रणाम है।

॥ कृष्ण जिनका नाम है...॥



ध्रुपद सुता की लाज बचायो,

गजेन्द्र-गज को फ़ंद छुड़ायो,

ऐसे किरपा-धाम को,

बारंबार प्रणाम है।

॥ कृष्ण जिनका नाम है...॥



कृष्ण जिनका नाम है,

गोकुल जिनका धाम है,

ऐसे श्री भगवान को,

बारंबार प्रणाम है।

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य कथा: अध्याय 5 (Purushottam Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 5)

भजन: आ माँ आ तुझे दिल ने पुकारा। (Aa Maa Aa Tujhe Dil Ne Pukara)

राम नाम सुखदाई, भजन करो भाई! (Ram Naam Sukhdai Bhajan Karo Bhai Yeh Jeevan Do Din Ka)

कुछ नहीं बिगड़ेगा तेरा, हरी शरण आने के बाद (Kuch Nahi Bigadega Tera Hari Sharan Aane Ke Baad)

सर को झुकालो, शेरावाली को मानलो - भजन (Sar Ko Jhukalo Sherawali Ko Manalo)

पंच परमेष्ठी आरती (Panch Parmeshthi Aarti)

जागो वंशीवारे ललना, जागो मोरे प्यारे: भजन (Jago Bansivare Lalna Jago More Pyare)

श्री युगलाष्टकम् - कृष्ण प्रेममयी राधा (Yugal Ashtakam - Krishna Premayi Radha)

वीरो के भी शिरोमणि, हनुमान जब चले: भजन (Veeron Ke Shiromani, Hanuman Jab Chale)

कथा: हनुमान गाथा (Katha Hanuman Gatha)

भरी उनकी आँखों में है, कितनी करुणा: भजन (Bhajan: Bhari Unki Ankho Mein Hai Kitni Karuna)

कान्हा वे असां तेरा जन्मदिन मनावणा (Kahna Ve Assan Tera Janmdin Manavna)