अगर श्याम सुन्दर का सहारा ना होता (Agar Shyam Sundar Ka Sahara Na Hota)

अगर श्याम सुन्दर का सहारा ना होता,

तो दुनियाँ में कोई हमारा ना होता ।



जबसे मिली है दया हमको इनकी,

तो राहें बदल दी मेरी जिन्दगी की ।

नजारे करम का इशारा ना होता,

तो दुनियाँ में कोई हमारा ना होता ॥

॥ अगर श्याम सुन्दर का...॥



इन्ही के सहारे जीए जा रहे है,

नाम का अमृत पीए जा रहे हैं ।

मेरा बिगड़ा जीवन संवारा ना होता,

तो दुनियाँ में कोई हमारा ना होता ॥

॥ अगर श्याम सुन्दर का...॥



मेरे श्याम, मेरे श्याम, मेरे श्याम,

मेरे श्याम, मेरे श्याम, मेरे श्याम ।



कोई नहीं था दुनियाँ में अपना,

कन्हिया से मिलना लगता है सपना ।

कन्हिया ने हमको जो पुकारा ना होता,

तो दुनियाँ में कोई हमारा ना होता ॥

॥ अगर श्याम सुन्दर का...॥



भँवर में थी नैया, दिया है किनारा,

इन्ही की कृपा से चले है गुजारा ।

कृपा भरी दृष्टि से निहारा ना होता,

तो दुनियाँ में कोई हमारा ना होता ॥

॥ अगर श्याम सुन्दर का...॥



अगर श्याम सुन्दर का सहारा ना होता,

तो दुनियाँ में कोई हमारा ना होता ।

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य कथा: अध्याय 19 (Purushottam Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 19)

श्री गुरु अष्टकम (Shri Guru Ashtakam)

गोपाल गोकुल वल्लभे, प्रिय गोप गोसुत वल्लभं (Gopal Gokul Valbhe Priya Gop Gosut Valbham)

बाबा गोरखनाथ जी की आरती (Baba Goraknath Ji ki Aarti)

करलो करलो चारो धाम, मिलेंगे कृष्ण, मिलेंगे राम (Karlo Karlo Charo Dham)

चक्रवर्ती राजा दिलीप की गौ-भक्ति कथा (Chakravarthi Raja Dileep Ki Gau Bhakti Katha)

सर को झुकालो, शेरावाली को मानलो - भजन (Sar Ko Jhukalo Sherawali Ko Manalo)

भक्तामर स्तोत्र - भक्तामर-प्रणत-मौलि-मणि-प्रभाणा (Bhaktamara Stotra)

प्रेरक कथा: नारायण नाम की महिमा! (Prerak Katha Narayan Nam Ki Mahima)

आरती: श्री बांके बिहारी तेरी आरती गाऊं.. (Aarti: Shri Banke Bihari Teri Aarti Gaun)

भजन: यह तो प्रेम की बात है उधो! (Bhajan: Ye Too Prem Ki Baat Hai Udho)

महादेव शंकर हैं जग से निराले: भजन (Mahadev Shankar Hain Jag Se Nirale)