आओ यशोदा के लाल: भजन (Aao Yashoda Ke Laal)

आओ यशोदा के लाल

आज मोहे दरशन से कर दो निहाल

आओ आओ आओ आओ यशोदा के लाल



नैया हमारी भंवर मे फंसी

कब से अड़ी उबारो हरि

कहते हैं दीनों के तुम हो दयाल

आओ आओ आओ आओ यशोदा के लाल



अब तो सुन लो पुकार मेरे जीवन आधार

भवसागर है अति विशाल

लाखों को तारा है तुमने गोपाल

आओ आओ आओ आओ यशोदा के लाल



यमुना के तट पर गौवें चराकर

छीन लिया मेरा मन मुरली बजाकर

हृदय हमारे बसो नन्दलाल

आओ आओ आओ आओ यशोदा के लाल

मुरली बजा के मोहना! (Murli Bajake Mohana Kyon Karliya Kinara)

हे माँ मुझको ऐसा घर दे: भजन (He Maa Mujhko Aisa Ghar De)

माँ दुर्गा देव्यापराध क्षमा प्रार्थना स्तोत्रं! (Maa Durga Kshama Prarthna Stotram)

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य कथा: अध्याय 21 (Purushottam Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 21)

राम जपते रहो, काम करते रहो: भजन (Ram Japate Raho, Kam Karte Raho)

भक्तामर स्तोत्र - भक्तामर-प्रणत-मौलि-मणि-प्रभाणा (Bhaktamara Stotra)

भजन: राम को देख कर के जनक नंदिनी, और सखी संवाद (Ram Ko Dekh Ke Janak Nandini Aur Sakhi Samvad)

प्रार्थना: तुम्ही हो माता पिता तुम्ही हो (Prayer Tumhi Ho Mata Pita Tumhi Ho )

आर्य समाज प्रेरक भजन (Arya Samaj Motivational Bhajans)

जया एकादशी व्रत कथा (Jaya Ekadashi Vrat Katha)

पुत्रदा / पवित्रा एकादशी व्रत कथा! (Putrada / Pavitra Ekadashi Vrat Katha)

भजन: पायो जी मैंने राम रतन धन पायो। (Bhajan: Piyo Ji Maine Ram Ratan Dhan Payo)