आजा.. नंद के दुलारे हो..हो..: भजन (Ajaa Nand Ke Dulare)

आजाआ... ओओओ...

आजा.. नंद के दुलारे हो..हो..

रोवे अकेली मीरा..आ..

आजा.. नंद के दुलारे हो..हो..

रोवे अकेली मीरा..आ..



बालक सी न ब्याह करवाया

तेरे संग ब्याही हो..हो..

पिहर छोड़ सासरे आगी

लदी कुल क शाही हो..हो.. ॥

आजा.. नंद के दुलारे हो..हो..॥



रोम रोम मे रम होया से..

नही रोम टेन न्यारा हो

दुष्टों का संघार किया

बन्यां भक्तो का तू प्यारा हो.. ॥

रोम रोम मे रम होया से.. ॥



जंग जोवे अकेली मीरा..आ.. ॥

आजा.. नंद के दुलारे हो..हो.. ॥



आदम देह के चोले संग

दूत रहें सयम हो.. हो..

सतरंग सेज बिछा रखी से

लगे गाळीचे गम के हो..हो.. ॥

आदम देह के चोले संग ॥



सोवे अकेली मीरा..आ.. ॥

आजा.. नंद के दुलारे हो..हो.. ॥



माँगेराम राम ने टोहेवे

कोन्यों पाया दर पे हो..हो..

लख़मिचंद सुरग मे जालिये

फेर भी बोझा सिर पे हो..हो..॥

माँगेराम राम ने टोहेवे ॥



ढोवे अकेली मीरा..आ.. ॥

आजा.. नंद के दुलारे हो..हो.. ॥



आजाआ... ओओओ...

आजा.. नंद के दुलारे हो..हो..

रोवे अकेली मीरा..आ..

आजा.. नंद के दुलारे हो..हो..

रोवे अकेली मीरा..आ..




Lead Singer:
विधि देशवाल


Lyrics:
Lt Pandit Sh. Mange Ram Sangi Ji, Panchi, Haryana


Chorus:
Rinku, Muskan, Manisha, Sheetal, Isha


Music:
Sh. Somesh Jangra ji, Hisar, Haryana

तेरी अंखिया हैं जादू भरी: भजन (Teri Akhiya Hai Jadu Bhari)

प्रबल प्रेम के पाले पड़ के: भजन (Prem Ke Pale Prabhu Ko Niyam Badalte Dekha)

मेरे भोले बाबा को अनाड़ी मत समझो: शिव भजन (Mere Bhole Baba Ko Anadi Mat Samjho)

कभी फुर्सत हो तो जगदम्बे! (Kabhi Fursat Ho To Jagdambe)

महिषासुरमर्दिनि स्तोत्रम् - अयि गिरिनन्दिनि (Mahishasura Mardini Stotram - Aigiri Nandini)

भजन: बजरंग के आते आते कही भोर हो न जाये रे... (Bajrang Ke Aate 2 Kahin Bhor Ho Na Jaye Re)

बड़ी देर भई नंदलाला: भजन (Badi Der Bhai Nandlala)

श्री शङ्कराचार्य कृतं - वेदसारशिवस्तोत्रम् (Vedsara Shiv Stotram)

मत घबरा मन बावरे... (Mat Ghabra Mann Baware)

देवोत्थान / प्रबोधिनी एकादशी व्रत कथा 2 (Devutthana Ekadashi Vrat Katha 2)

दानी बड़ा ये भोलेनाथ, पूरी करे मन की मुराद! (Dani Bada Ye Bholenath Puri Kare Man Ki Murad)

ॐ श्री विष्णु मंत्र: मङ्गलम् भगवान विष्णुः (Shri Vishnu Mantra)