तुम बिन मोरी कौन खबर ले गोवर्धन गिरधारी: श्री कृष्ण भजन (Tum Bin Mori Kaun Khabar Le Govardhan Girdhari)

तुम बिन मोरी कौन खबर ले,

गोवर्धन गिरधारी,

तुम बिन मोरी कौन खबर ले,

गोवर्धन गिरधारी ।



भरी सबा में द्रोपदी खाड़ी,

राखो लाज हमारी ।

तुम बिन मोरी कौन खबर ले,

गोवर्धन गिरधारी ॥



मोर मुकट पीताम्भर सोहे,

कुण्डल की छवि न्यारी ।

तुम बिन मोरी कौन खबर ले,

गोवर्धन गिरधारी ॥



मीरा के प्रभु श्याम सूंदर है,

चरण कमल बलिहारी ।

तुम बिन मोरी कौन खबर ले,

गोवर्धन गिरधारी ॥

कभी फुर्सत हो तो जगदम्बे! (Kabhi Fursat Ho To Jagdambe)

नर से नारायण बन जायें... (Nar Se Narayan Ban Jayen Prabhu Aisa Gyan Hamen Dena)

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य कथा: अध्याय 13 (Purushottam Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 13)

दे दो अपनी पुजारन को वरदान माँ: भजन (Dedo Apni Pujarin Ko Vardan Maa)

श्री राधा कृपा कटाक्ष स्त्रोत्र (Shri Radha Kriya Kataksh Stotram)

॥श्रीमहालक्ष्मीस्तोत्रम् विष्णुपुराणान्तर्गतम्॥ (Mahalakshmi Stotram From Vishnupuran)

सदाशिव सर्व वरदाता, दिगम्बर हो तो ऐसा हो - भजन (Sada Shiv Sarva Var Data Digamber Ho To Aisa Ho)

मधुराष्टकम्: अधरं मधुरं वदनं मधुरं - श्रीवल्लभाचार्य कृत (Madhurashtakam Adhram Madhuram Vadnam Madhuram)

श्री सिद्धिविनायक आरती: जय देव जय देव (Shri Siddhivinayak Aarti: Jai Dev Jai Dev)

शंकर तेरी जटा से बहती है गंग धारा (Shankar Teri Jata Se Behti Hai Gang Dhara)

रंगीलो मेरो बनवारी: होली भजन (Rangilo Mero Banwari)

भोले नाथ का मैं बनजारा: भजन (Bholenath Ka Main Banjara)