तुम आशा विश्वास हमारे, रामा: भजन (Tum Asha Vishwas Hamare Bhajan)

नाम ना जाने, धाम ना जाने

जाने ना सेवा पूजा

जाने बस इतना अजान हम

एक बिना नहीं दूजा



तुम आशा विश्वास हमारे

तुम धरती आकाश हमारे,

तुम धरती आकाश हमारे, रामा



तात मात तुम, बंधू भ्रात हो

दिवस रात्रि, संध्या प्रभात हो

दीपक सूर्य चन्द्र तारक में, रामा

तुम ही ज्योति प्रकाश हमारे, रामा

॥ तुम आशा विश्वास हमारे...॥



साँसों में तुम आते जाते

एक तुम ही से हैं सब नाते

जीवनवन के हर पतझर में, रामा

एक तुम ही मधुमास हमारे, रामा

॥ तुम आशा विश्वास हमारे...॥



तुम ही सब में हैं तुम में सब

तुम ही भव हो, हो तुम ही रब

अश्रु हमारी आँखों में तुम, रामा

तुम होठों पर हास हमारे, रामा

॥ तुम आशा विश्वास हमारे...॥



तुम आशा विश्वास हमारे

तुम धरती आकाश हमारे,

तुम धरती आकाश हमारे, रामा

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य कथा: अध्याय 1 (Purushottam Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 1)

अभयदान दीजै दयालु प्रभु (Abhaydan Deejai Dayalu Prabhu Shiv Aarti)

सवारिये ने भूलूं न एक घडी! (Sanwariye Ne Bhule Naa Ek Ghadi)

सुबह सुबह ले शिव का नाम: भजन (Subah Subah Le Shiv Ka Naam)

श्री शङ्कराचार्य कृतं - वेदसारशिवस्तोत्रम् (Vedsara Shiv Stotram)

भजन: सांवरे को दिल में बसा के तो देखो! (Bhajan: Sanware Ko Dil Me Basa Kar To Dekho)

सुन लो चतुर सुजान, निगुरे नहीं रहना (Sunlo Chatur Sujan Nigure Nahi Rehna)

तेरी अंखिया हैं जादू भरी: भजन (Teri Akhiya Hai Jadu Bhari)

भजन: शिव शंकर को जिसने पूजा उसका ही उद्धार हुआ (Shiv Shankar Ko Jisne Pooja)

धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये, तीन लोक: भजन (Dhan Dhan Bholenath Bant Diye Teen Lok)

श्री सत्यनारायण जी आरती (Shri Satyanarayan Ji Ki Aarti)

भजन: गणपति आज पधारो, श्री रामजी की धुन में (Ganapati Aaj Padharo Shri Ramaji Ki Dhun Me)