तुम आशा विश्वास हमारे, रामा: भजन (Tum Asha Vishwas Hamare Bhajan)

नाम ना जाने, धाम ना जाने

जाने ना सेवा पूजा

जाने बस इतना अजान हम

एक बिना नहीं दूजा



तुम आशा विश्वास हमारे

तुम धरती आकाश हमारे,

तुम धरती आकाश हमारे, रामा



तात मात तुम, बंधू भ्रात हो

दिवस रात्रि, संध्या प्रभात हो

दीपक सूर्य चन्द्र तारक में, रामा

तुम ही ज्योति प्रकाश हमारे, रामा

॥ तुम आशा विश्वास हमारे...॥



साँसों में तुम आते जाते

एक तुम ही से हैं सब नाते

जीवनवन के हर पतझर में, रामा

एक तुम ही मधुमास हमारे, रामा

॥ तुम आशा विश्वास हमारे...॥



तुम ही सब में हैं तुम में सब

तुम ही भव हो, हो तुम ही रब

अश्रु हमारी आँखों में तुम, रामा

तुम होठों पर हास हमारे, रामा

॥ तुम आशा विश्वास हमारे...॥



तुम आशा विश्वास हमारे

तुम धरती आकाश हमारे,

तुम धरती आकाश हमारे, रामा

भजन: श्री कृष्णा गोविन्द हरे मुरारी (Bhajan: Shri Krishna Govind Hare Murari)

भभूती रमाये बाबा भोले नाथ आए! (Bhabhuti Ramaye Baba Bholenath Aaye)

सकट चौथ पौराणिक व्रत कथा - श्री महादेवजी पार्वती (Sakat Chauth Pauranik Vrat Katha - Shri Mahadev Parvati)

अरे द्वारपालों कहना से कह दो: भजन (Are Dwarpalo Kanhaiya Se Keh Do)

लड्डू गोपाल मेरा, छोटा सा है लला मेरा.. (Laddu Gopal Mera Chota Sa Hai Lalaa)

प्रभु रामचंद्र के दूता: भजन (Prabhu Ramachandra Ke Dootha)

अनमोल तेरा जीवन, यूँ ही गँवा रहा है: भजन (Anmol Tera Jeevan Yuhi Ganwa Raha Hai)

प्रेरक कथा: नारायण नाम की महिमा! (Prerak Katha Narayan Nam Ki Mahima)

हिरण्यगर्भ दूधेश्वर ज्योतिर्लिंग प्रादुर्भाव पौराणिक कथा! (Hiranyagarbh Shri Dudheshwarnath Mahadev Utpatti Pauranik Katha)

अन्नपूर्णा स्तोत्रम् - नित्यानन्दकरी वराभयकरी (Annapoorna Stotram - Nitya-nanda Karee Vara Abhaya Karee)

कार्तिक मास माहात्म्य कथा: अध्याय 1 (Kartik Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 1)

श्री गोवर्धन वासी सांवरे लाल: भजन (Shri Govardhan Wasi Sanwarey Lal)