तुम आशा विश्वास हमारे, रामा: भजन (Tum Asha Vishwas Hamare Bhajan)

नाम ना जाने, धाम ना जाने

जाने ना सेवा पूजा

जाने बस इतना अजान हम

एक बिना नहीं दूजा



तुम आशा विश्वास हमारे

तुम धरती आकाश हमारे,

तुम धरती आकाश हमारे, रामा



तात मात तुम, बंधू भ्रात हो

दिवस रात्रि, संध्या प्रभात हो

दीपक सूर्य चन्द्र तारक में, रामा

तुम ही ज्योति प्रकाश हमारे, रामा

॥ तुम आशा विश्वास हमारे...॥



साँसों में तुम आते जाते

एक तुम ही से हैं सब नाते

जीवनवन के हर पतझर में, रामा

एक तुम ही मधुमास हमारे, रामा

॥ तुम आशा विश्वास हमारे...॥



तुम ही सब में हैं तुम में सब

तुम ही भव हो, हो तुम ही रब

अश्रु हमारी आँखों में तुम, रामा

तुम होठों पर हास हमारे, रामा

॥ तुम आशा विश्वास हमारे...॥



तुम आशा विश्वास हमारे

तुम धरती आकाश हमारे,

तुम धरती आकाश हमारे, रामा

कान्हा वे असां तेरा जन्मदिन मनावणा (Kahna Ve Assan Tera Janmdin Manavna)

मेरे राम राइ, तूं संता का संत तेरे: गुरुवाणी शब्द कीर्तन (Mere Ram Rai Tu Santa Ka Sant Tere)

भजन: बांके बिहारी कृष्ण मुरारी (Banke Bihari Krishan Murari)

आजा.. नंद के दुलारे हो..हो..: भजन (Ajaa Nand Ke Dulare)

मुकुट सिर मोर का, मेरे चित चोर का: भजन (Mukut Sir Mor Ka, Mere Chit Chor Ka)

इंदिरा एकादशी व्रत कथा (Indira Ekadashi Vrat Katha)

विसर नाही दातार अपना नाम देहो: शब्द कीर्तन (Visar Nahi Datar Apna Naam Deho)

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य कथा: अध्याय 24 (Purushottam Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 24)

देना हो तो दीजिए जनम जनम का साथ। (Dena Ho To Dijiye Janam Janam Ka Sath)

भजन: मैं तो संग जाऊं बनवास, स्वामी.. (Bhajan: Main Too Sang Jaun Banwas)

आओ भोग लगाओ प्यारे मोहन: भोग आरती (Aao Bhog Lagao Mere Mohan: Bhog Aarti)

भजन: तेरा पल पल बीता जाए! (Tera Pal Pal Beeta Jay Mukhse Japle Namah Shivay)