श्री हनुमान जी आरती (Shri Hanuman Ji Ki Aarti)

श्री हनुमान जन्मोत्सव, मंगलवार व्रत, शनिवार पूजा, बूढ़े मंगलवार और अखंड रामायण के पाठ में प्रमुखता से गाये जाने वाली आरती है।




॥ श्री हनुमंत स्तुति ॥

मनोजवं मारुत तुल्यवेगं,

जितेन्द्रियं, बुद्धिमतां वरिष्ठम् ॥

वातात्मजं वानरयुथ मुख्यं,

श्रीरामदुतं शरणम प्रपद्धे ॥




॥ आरती ॥

आरती कीजै हनुमान लला की ।

दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ॥




जाके बल से गिरवर काँपे ।


रोग-दोष जाके निकट न झाँके ॥


अंजनि पुत्र महा बलदाई ।


संतन के प्रभु सदा सहाई ॥


आरती कीजै हनुमान लला की ॥



दे वीरा रघुनाथ पठाए ।

लंका जारि सिया सुधि लाये ॥

लंका सो कोट समुद्र सी खाई ।

जात पवनसुत बार न लाई ॥


आरती कीजै हनुमान लला की ॥




लंका जारि असुर संहारे ।


सियाराम जी के काज सँवारे ॥


लक्ष्मण मुर्छित पड़े सकारे ।


लाये संजिवन प्राण उबारे ॥


आरती कीजै हनुमान लला की ॥



पैठि पताल तोरि जमकारे ।

अहिरावण की भुजा उखारे ॥

बाईं भुजा असुर दल मारे ।

दाहिने भुजा संतजन तारे ॥


आरती कीजै हनुमान लला की ॥




सुर-नर-मुनि जन आरती उतरें ।


जय जय जय हनुमान उचारें ॥


कंचन थार कपूर लौ छाई ।


आरती करत अंजना माई ॥


आरती कीजै हनुमान लला की ॥



जो हनुमानजी की आरती गावे ।

बसहिं बैकुंठ परम पद पावे ॥

लंक विध्वंस किये रघुराई ।

तुलसीदास स्वामी कीर्ति गाई ॥



आरती कीजै हनुमान लला की ।

दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ॥

॥ इति संपूर्णंम् ॥

सच्चा है माँ का दरबार, मैय्या का जवाब नहीं: भजन (Saccha Hai Maa Ka Darbar, Maiya Ka Jawab Nahi)

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य कथा: अध्याय 14 (Purushottam Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 14)

सिद्ध कुञ्जिका स्तोत्रम् (Siddha Kunjika Stotram)

बांके बिहारी मुझको देना सहारा! (Banke Bihari Mujhko Dena Sahara)

भजन: सांवरा जब मेरे साथ है (Sanwara Jab Mere Sath Hai)

प्रबल प्रेम के पाले पड़ के: भजन (Prem Ke Pale Prabhu Ko Niyam Badalte Dekha)

भजन: करदो करदो बेडा पार राधे अलबेली सरकार (Kardo Kardo Beda Paar Radhe Albeli Sarkar)

कुछ नहीं बिगड़ेगा तेरा, हरी शरण आने के बाद (Kuch Nahi Bigadega Tera Hari Sharan Aane Ke Baad)

तेरे चरण कमल में श्याम: भजन (Tere Charan Kamal Mein Shyam)

सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप की (Sari Duniya Hai Diwani Radha Rani Aapki)

मैं तो अपने मोहन की प्यारी: भजन (Me Too Apne Mohan Ki Pyari, Sajan Mero Girdhari)

जय श्री वल्लभ, जय श्री विट्ठल, जय यमुना श्रीनाथ जी: भजन (Jai Shri Vallabh Jai Shri Vithal, Jai Yamuna Shrinathji)