बेटा बुलाए झट दौड़ी चली आए माँ: भजन (Beta Bulaye Jhat Daudi Chali Aaye Maa)

॥ स्तुति ॥

मैं नही जानू पूजा तेरी, पर तू ना करना मैया देरी,

तेरा लख्खा तुझे पुकारे, लाज तू रखले अब माँ मेरी॥




॥ भजन ॥

बेटा बुलाए झट दौड़ी चली आए माँ,

अपने बच्चो के आँसू देख नहीं पाए माँ,

बेटा बुलाए झट दौड़ी चली आए माँ॥



वेद पुराणो में भी माँ की, महिमा का बखान है।

वो झुकता माँ चरणों में, जिसने रचा जहान है।

देवर्षि भी समझ ना पाए, ऐसी लीला रचाए माँ।

बेटा बुलाए झट दौड़ी चली आए माँ॥



संकट हरनी वरदानी माँ, सबके दुखड़े दूर करे।

शरण आए दिन दुखी की, विनती माँ मंजूर करे।

सारा जग जिसको ठुकरादे, उसको गले लगाए माँ।

बेटा बुलाए झट दौड़ी चली आए माँ॥



बिगड़ी तेरी बात बनेगी, माँ की महिमा गा के देख।

खुशियो से भर जाएगा, तू झोली तो फैलाके देख।

झोली छोटी पड़ जाती है, जब देने पे आए माँ।

बेटा बुलाए झट दौड़ी चली आए माँ॥



कबसे तेरी कचहरी में माँ, लिख कर दे दी अर्जी।

अपना ले चाहे ठुकरा दे, आगे तेरी मर्जी।

लख्खा शरण खड़ा हथ जोड़े, जो भी हुकुम सुनाए माँ।

बेटा बुलाए झट दौड़ी चली आए माँ॥



बेटा बुलाए झट दौड़ी चली आए माँ,

अपने बच्चो के आँसू देख नहीं पाए माँ,

बेटा बुलाए झट दौड़ी चली आए माँ॥

मंगल को जन्मे, मंगल ही करते: भजन (Mangal Ko Janme Mangal Hi Karte)

भजन: हे करुणा मयी राधे, मुझे बस तेरा सहारा है! (Hey Karuna Mayi Radhe Mujhe Bas Tera Sahara Hai)

मन की तरंग मार लो... (Man Ki Tarang Mar Lo Bas Ho Gaya Bhajan)

प्रभु हम पे कृपा करना, प्रभु हम पे दया करना: भजन (Prabhu Humpe Daya Karna)

जिसको जीवन में मिला सत्संग है (Jisko jivan Main Mila Satsang Hai)

हो लाल मेरी पत रखियो बला - दमादम मस्त कलन्दर: भजन (O Lal Meri Pat Rakhiyo Bala Duma Dum Mast Kalandar)

कीर्तन रचो है म्हारे आंगने - भजन (Kirtan Racho Hai Mhare Angane)

शीतला अष्टमी व्रत कथा (Sheetala Ashtami Vrat Katha)

भजन: बाँधा था द्रौपदी ने तुम्हे (Bandha Tha Draupadi Ne Tumhe Char Taar Main)

मेरे लाडले गणेश प्यारे प्यारे: भजन (Mere Ladle Ganesh Pyare Pyare Bhajan)

कार्तिक मास माहात्म्य कथा: अध्याय 2 (Kartik Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 2)

हमारे हैं श्री गुरुदेव, हमें किस बात की चिंता (Hamare Hain Shri Gurudev Humen Kis Bat Ki Chinta)