मैं तो बांके की बांकी बन गई (Main Toh Banke Ki Banki Ban Gayi)

मैं तो बांके की बांकी बन गई,

और बांका बन गया मेरा,

मैं तो बांके की बांकी बन गई,

और बांका बन गया मेरा


इस बांके का सब कुछ बांका,

इस बांके का सब कुछ बांका,

मैं तो बांके की बांकी बन गई,

और बांका बन गया मेरा ॥



बांके है नन्द बाबा और यशुमति,

बांकी घडी जमने है बिहारी,

बांके कन्हैया के बांके है भ्रात,

लड़ाके बड़े हल मूसल धारी...

बांकी मिली दुलहन जगवंदन,

और बांके गोपाल के बांके पुजारी,

भक्तन दर्शन देन के कारण,

झांके झरोखा में बांके बिहारी,

॥ मैं तो बांके की बांकी बन गई...॥



रसिया की छलिया की,

सजना की सईया की,

॥ मैं तो बांके की बांकी बन गई...॥



बांकी पागचंद्रिका तापर,

और बांका तुर्रा ररक रहा है,

गरसिरपेच माल और बांकी,

बांके की पटकी चटक अहा है...

बांके नैन सेन सर बांके,

बेन बिनोद महा है,

बांके की बांकी झांकी कर,

बाकी रहयो कहा है,

॥ मैं तो बांके की बांकी बन गई..॥



रसिया की छलिया की,

सजना की सईया की,

॥ मैं तो बांके की बांकी बन गई..॥



ये टेड़े सो प्रसन्न,

टेडी बातन सो अति प्रसन,

टेड़े टेड़े लक्षण अनेक कान कारे के...

हम सो टेंडाई भूल मत करियो कोई,

हम है उपासी एक टेडी टांग वाले के

॥ मैं तो बांके की बांकी बन गई..॥



रसिया की छलिया की,

सजना की सईया की,

॥ मैं तो बांके की बांकी बन गई..॥



टेड़े टिपारे कटारे किरीट की,

मांग की पाग की धारि की जय जय,

कुंडल जाये कपोलन पे,

मुस्कानहु धीर प्रहारी की जय जय..

राजेश्वरी दिन रात रटो,

यही मोहन की बनवारी की जय जय,

प्रेम ते बोलो जी बोलत डोलो,

बोलो श्री बांके बिहारी की जय जय

॥ मैं तो बांके की बांकी बन गई..॥



मैं तो बांके की बांकी बन गई,

और बांका बन गया मेरा,

मैं तो बांके की बांकी बन गई,

और बांका बन गया मेरा


इस बांके का सब कुछ बांका,

इस बांके का सब कुछ बांका,

मैं तो बांके की बांकी बन गई,

और बांका बन गया मेरा ॥

सबसे ऊंची प्रेम सगाई: भजन (Bhajan: Sabse Unchi Prem Sagai)

मां नर्मदाजी आरती (Aarti Shri Narmada Maiya)

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य कथा: अध्याय 21 (Purushottam Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 21)

जिनका मैया जी के चरणों से संबंध हो गया (Jinka Maiya Ji Ke Charno Se Sabandh Hogaya)

तन के तम्बूरे में, दो सांसो की तार बोले! (Tan Ke Tambure Me Do Sanso Ki Tar Bole)

मंत्र: महामृत्युंजय मंत्र, संजीवनी मंत्र, त्रयंबकम मंत्र (Mahamrityunjay Mantra)

तेरे द्वार खड़ा भगवान, भक्त भर..: भजन (Tere Dwaar Khada Bhagawan Bhagat Bhar De Re Jholi)

हरतालिका तीज व्रत कथा (Hartalika Teej Vrat Katha)

भजन: तेरा पल पल बीता जाए! (Tera Pal Pal Beeta Jay Mukhse Japle Namah Shivay)

मन मेरा मंदिर, शिव मेरी पूजा: भजन (Man Mera Mandir Shiv Meri Pooja)

होता है सारे विश्व का, कल्याण यज्ञ से। (Hota Hai Sare Vishwa Ka Kalyan Yajya Se)

श्री जग्गनाथ आरती - चतुर्भुज जगन्नाथ (Shri Jagganath Aarti - Chaturbhuja Jagannatha)